रात्रि चौपाल: 60 से अधिक प्रार्थना पत्र आए, एक का भी नहीं हुआ मौके पर निस्तारण

रात्रि चौपाल: 60 से अधिक प्रार्थना पत्र आए, एक का भी नहीं हुआ मौके पर निस्तारण

By: pawan sharma

Updated: 25 Oct 2020, 03:18 PM IST

पीपलू (रा.क.). उपखंड क्षेत्र के बनवाड़ा में शनिवार देर शाम को रात्रि चौपाल, जनसुनवाई, विश्राम का आयोजन हुआ। चौपाल में जिला कलक्टर गौरव अग्रवाल को पहुंचना था लेकिन उनके स्थान पर एडीएम सुखराम खोकर ने पहुंचकर ग्रामीणों की समस्याएं सुनी। चौपाल में 60 से अधिक विभिन्न समस्याओं को लेकर प्रार्थना पत्र ग्रामीणों की ओर से दिए गए, लेकिन मौके पर एक भी समस्या का समाधान नहीं हो सका।


एडीएम सुखराम खोखर ने सभी समस्याओं के प्रार्थना पत्र लेकर अवलोकन करते हुए संबंधित अधिकारियों को सौंपते हुए मामले की जानकारी ली तथा आवश्यक कार्यवाही के लिए निर्देशित कर हल करने के लिए कहा। बनवाड़ा के ग्रामीणों ने चरागाह भूमि को अतिक्रमण मुक्त कराने, श्मशान की ओर जाने वाले रास्ते को अतिक्रमण मुक्त कराकर सुलभ बनाने, श्मशान के लिए नवीन भूमि के आवंटन करने, उपस्वास्थ्य केंद्र को प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र में क्रमोन्नत करने, घर-घर नल कनेक्शन से जोडऩे, बिजली की डीपी लगवाने, खाद्य सुरक्षा में नाम जुड़वाने आदि की समस्याएं बताई गई।

साथ ही बनवाड़ा ग्राम पंचायत सरपंच ने कठमाणा, रानोली, बनवाड़ा, पीपलू क्षतिग्रस्त सडक़ को सही करवाने की मांग की गई। ग्रामीणों ने बताया कि क्षतिग्रस्त सडक़ से आवागमन में काफी परेशानी ग्रामीणों को उठानी पड़ रही हैं।

विश्राम का कार्यक्रम लिखते हैं लेकिन रुकते नहीं

जिला कलक्टर सहित विभिन्न प्रशासनिक अधिकारियों के दौरे के दौरान गांव में रात्रि चौपाई, जनसुनवाई के साथ विश्राम का कार्यक्रम लिखते हैं, लेकिन कभी भी किस गांव में कोई अधिकारी विश्राम के लिए नहीं ठहरता हैं। बल्कि अधिकारी जनसुनवाई में प्रार्थना पत्र लेकर उस समस्या के मौके पर निस्तारण को लेकर जद्दोजहद तक भी नहीं करते हैं। ऐसे में जनसनुवाई मात्र खानापूर्ति साबित होती हैं। चौपाल में सीईओ नवनीत कुमार, एसडीएम रवि वर्मा, पंचायत समिति विकास अधिकारी बृजमोहन गुप्ता, ग्राम विकास अधिकारी राजेंद्रसिंह राजावत, नायब तहसीलदार कैलाशचंद्र मीणा आदि मौजूद रहे।

नटवाड़ा. उपखण्ड अधिकारी रूबी अंसार ने ग्राम पंचायत नटवाड़ा में राजीव गांधी सेवा केन्द्र पर जन सुनवाई के दौरान ग्रामीणों की सार्वजनिक एवं व्यक्तिगत समस्याएं सुनी, वहीं जन सुनवाई में गिरदावर के अनुपस्थित करने के कारण पेंशन के आवेदन अटक गए । उपखण्ड अधिकारी रूबी अंसार ने कहा कि बिचौलिया कुप्रथा को समाप्त करने के लिए सरकार द्वारा ऐसे कार्यक्रमों का आयोजन किया जा रहा हैं।

जन सुनवाई में श्री बद्री विशाल धाम के महन्त तेज भारती ने 125 बीघा जमीन मन्दिर को दान करने की अर्जी लगाई। एसडीएम ने ग्रामीणों की समस्याओं का समाधान एक सप्ताह में करने के लिए पाबन्द किया । इसी प्रकार देवली-भांची ग्राम पंचायत में उपखण्ड अधिकारी नित्या के एवं तहसीलदार रामपाल मीणा ने जन सुनवाई में ग्रामीणों की समस्याओ का समाधान किया।

Show More
pawan sharma
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned