मांगें नहीं मानी तो आंदोलन करेंगे पंचायतराज विभाग के कर्मचारी

कलक्टर को सौंपा ज्ञापन
टोंक. विभिन्न मांगों को लेकर पंचायतीराज मंत्रालयिक कर्मचारी संगठन जिला शाखा से जुड़े कर्मचारियों ने गुरुवार को मुख्यमंत्री, मुख्य सचिव आदि के नाम जिला कलक्टर व जिला परिषद की मुख्य कार्यकारी अधिकारी को ज्ञापन सौंपा। इसमें बताया कि सरकार मंत्रालयिक कर्मचारियों के हकों पर कोई निर्णय नहीं कर रही है।

By: jalaluddin khan

Published: 17 Jun 2021, 08:29 PM IST

मांगें नहीं मानी तो आंदोलन करेंगे पंचायतराज विभाग के कर्मचारी
कलक्टर को सौंपा ज्ञापन
टोंक. विभिन्न मांगों को लेकर पंचायतीराज मंत्रालयिक कर्मचारी संगठन जिला शाखा से जुड़े कर्मचारियों ने गुरुवार को मुख्यमंत्री, मुख्य सचिव आदि के नाम जिला कलक्टर व जिला परिषद की मुख्य कार्यकारी अधिकारी को ज्ञापन सौंपा। इसमें बताया कि सरकार मंत्रालयिक कर्मचारियों के हकों पर कोई निर्णय नहीं कर रही है।


यह पंचायती राज विभाग की अनदेखी है। ऐसे में कर्मचारियों को 15 दिवस में निर्णय नहीं होने पर मनरेगा एवं अन्य विभागीय कार्यों के बहिष्कार सहित चरणबद्ध आंदोलन करना पड़ेगा। संगठन के जिलाध्यक्ष महावीरप्रसाद धाकड़ के नेतृत्व में सौंपे गए ज्ञापन में बताया कि पंचायती राज संस्थाओं में पदस्थापित मंत्रालयिक संवर्ग की संख्या प्रदेश में 12500 के लिहाज से इन संस्थाओं का सबसे बड़ा कार्मिक समूह है।

उन्होंने गृह जिले में स्थानान्तरण बाबत नियमों को संशोधित करने, इच्छुक कार्मिकों का अन्तरजिला स्थानान्तरण करने, वित्त विभाग द्वारा निर्धारित नॉर्मस दिनांक 24 अप्रेल 2017 के अनुसार अन्य 122 विभागों की तर्ज पर पंचायती राज संस्थाओं के मंत्रालयिक संवर्ग का कैडर स्ट्रेन्थ रिव्यू करने, मनरेगा से प्रतिनियुक्ति समाप्त करने अथवा मद 2515 से वेतन भुगतान करने, कनिष्ठ लिपिक भर्ती 2013 के शेष पदों पर नियुक्ति, ग्राम पंचायतों में पदस्थापित कनिष्ठ लिपिकों की पंचायत के लेखों में भागीदारी कराते हुए तत्संबंधी व्यवस्था पंचायती राज अधिनियम/नियमों में करने, पंचायती राज अधिनियम एवं नियमों में सुसंगत व्यवस्था करते हुए संशोधन किया करने आदि की मांग की है। ज्ञापन देने वालों में जिलाध्यक्ष महावीरप्रसाद धाकड़, महामंत्री मुकेश चौधरी, जयनारायण जाट, रामनिवास बैरवा, रामदयाल जाट, दिनेश आदि शामिल थे।

जागरूकता अभियान की शुरुआत
टोंक. जिला प्रशासन एवं अजीम प्रेमजी फाउंडेशन की ओर से कम्युनिटी थिएटर टोंक के सहयोग से गुरुवार को कोरोना वैक्सीन जागरूकता अभियान शुरू किया गया।

एडीएम मुरारीलाल शर्मा एवं उपखंड अधिकारी नित्या के. ने हरी झंडी दिखाकर फेरी को कलक्ट्रेट से रवाना किया। फेरी की शुरुआत मुख्य बाजार घण्टाघर से होते हुए सुभाष बाजार, पांच बत्ती, काफला, नौशे मियां का पुल के रास्ते जाते हुए फेरी का समापन बड़े कुएं पर हुआ।

अभियान के तहत आमजन में कोरोना वैक्सीन को लेकर आमजन में जो भ्रांतिया फैली हुई है उसे दूर करने का प्रयास किया जाएगा। जिससे अधिक से अधिक लोग वैक्सीनेशन कराएं और कोरोना संक्रमण से मुक्त रहे। फेरी में कोरोना के प्रतिकात्मक रूप में मोहित वैष्णव एवं कोरोना वैक्सीन के रूप में फिरोज आलम रहे।

कोरोना को जंजीर में कैद कर ले जाते हुए कोरोना वॉरियर्स पुलिस के किरदार में चितरंजन नामा, डॉक्टर अमन तसेरा, नर्स रिया बंसल, सफाई कर्मचारी आशीष चावला रहे। संगीत संयोजन दीपक कुमार, गंगेश्वर तिवाड़ी, गर्वित गिदवानी, नीलेश तसेरा व रवि चावला ने किया। इस दौरान अजीम प्रेमजी फाउंडेशन के देवेंद्र जोशी, पंचानंद, शमीम, राजकुमार मौजूद थे।

jalaluddin khan Reporting
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned