जिले में बढेगी ग्राम पंचायतें, दूनी व पीपलू के पंचायत समिति बनने की उम्मीद

जिले में बढेगी ग्राम पंचायतें, दूनी व पीपलू के पंचायत समिति बनने की उम्मीद

Pawan Kumar Sharma | Updated: 14 Jun 2019, 07:58:07 PM (IST) Tonk, Tonk, Rajasthan, India

पंचायतीराज अधिनियम 1994 की धारा 101 के तहत पंचायतीराज संस्थाओं की सीमाओं में परिर्वतन होगा।

 

टोंक. पंचायतीराज विभाग की ओर से ग्राम पंचायत व पंचायत समिति के पुनर्गठन के आदेश जारी किए हैं। जिला कलक्टर इसके तहत 15 जून से कार्य शुरू कर देंगे। इसमें जिले में 11 ग्राम पंचायतें और नई बन सकती है।

 

वहीं दो पंचायत समिति बनने के आसार हैं। इसमें दूनी व पीपलू में पंचायत समिति मुख्यालय बनने की पूरी उम्मीद है। ये नए नियमों के तहत पात्रता रखते हैं। वहीं पंचायत समिति में वार्ड 25 ही रखने की अनिवार्यता रखी गई तो जिले में 56 ग्राम पंचायतें नई बनेगी।

 

इसका कारण है कि जिले की पांच पंचायत समिति के वार्ड 25 से कम है। फिलहाल जिले में 230 ग्राम पंचायत तथा 6 पंचायत समितियां हैं।

 

पुनर्गठन के आदेश पंचायतीराज विभाग के अतिरिक्त मुख्य सचिव राजेश्वरसिंह ने जारी किए हैं। इसमें पंचायतीराज अधिनियम 1994 की धारा 101 के तहत पंचायतीराज संस्थाओं की सीमाओं में परिर्वतन होगा।

 

इसकी अधिसूचना जिला कलक्टर को भेजी गई है। पुनर्गठन, पुनर्र्सीमांकन व नवसृजन के प्रस्ताव 15 जून से लिए जाएंगे। इसके तहत नई ग्राम पंचायत की आबादी कम से कम 4 हजार तथा अधिकतम 6 हजार 500 होगी।

 

इससे अधिक पर उसके वार्ड व गांव दूसरी नई ग्राम पंचायत में जोड़े जाएंगे। इसी प्रकार पंचायत समिति के लिए भी नए नियम लागू किए गए हैं। इसमें आबादी 2 लाख की होगी और वार्ड 25 होंगे।


नियम क्या कहता है
नियमों के मुताबिक दो ग्राम पंचायत पर पंचायत समिति का एक वार्ड बनता है।जबकि जिले में कई ग्राम पंचायतें ऐसी है जो एक वार्ड ही बनाती है। कई में तीन से चार मिलकर एक वार्ड बनाती है।

 

ऐसे में जिले में 230 ग्राम पंचायतें तथा 6 पंचायत समिति के 122 वार्ड है। सर्वाधिक वार्ड टोंक पंचायत समिति में 25 है।जबकि सबसे कम टोडारायसिंह के पास 15 है।


इस लिए बन सकती है दूनी-पीपलू
दूनी व पीपलू फिलहाल ग्राम पंचायत स्तर की है। पीपलू की पंचायत समिति टोंक तथा दूनी की पंचायत समिति देवली है। जबकि टोंक पंचायत समिति के अधीन 50 ग्राम पंचायतें हैं।

 

ऐसे में निवाई तथा टोंक से ग्राम पंचायतों को शामिल कर पीपलू पंचायत समिति बन सकती है। इसी प्रकार देवली तथा उनियारा में मिलाकर 73 ग्राम पंचायतें हैं। इनमें से तोडकऱ व कुछ टोंक पंचायत समिति में से लेकर दूनी पंचायत समिति बन सकती है।


इनको तोडकऱ बनाईजा सकती है नई ग्राम पंचायतें
नए नियमों के तहत जिले में 11 नई ग्राम पंचायतों के बनने की सम्भावना है। इनमें मालपुरा उपखण्ड क्षेत्र में लाम्बाहरिसिंह, डिग्गी तथा पचेवर को तोडकऱ एक-एक ग्राम पंचायत बन सकती है।

 

टोंक में पीपलू तथा राणोली को तोडकऱ एक-एक, देवली में राजमहल, नासिरदा व दूनी को तोडकऱ एक-एक, निवाई में वनस्थली व झिलाय को तोडकऱ एक-एक तथा उनियारा में अलीगढ़ व फुलेता ग्राम पंचायत के वार्डों को तोडकऱ एक नई ग्राम पंचायत का सृजन किया जा सकता है।


ऐसे करेगा प्रशासन काम
अतिरिक्त मुख्य सचिव के आदेश के मुताबिक 15 जून से 14 जुलाई तक प्रस्ताव तैयार किए जाएंगे। इसके बाद 15 जुलाई से 13 अगस्त तक आपत्तियां, 14 से 23 अगस्त तक सुनवाई होगी। प्रस्तावों को 24 अगस्त से 2 सितम्बर तक पंचायतीराज विभाग को भेजा जाएगा।

 

फैक्ट फाइल
पंचायत समिति वार्ड ग्राम पंचायत
मालपुरा 23 36
टोंक 25 50
टोडारायसिंह 15 31
निवाई 21 41
उनियारा 17 33
देवली 21 39

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned