स्टोर में होने के बाद भी मरीजों को नही दी दवाई

स्टोर में होने के बाद भी मरीजों को नही दी दवाई

 

By: pawan sharma

Published: 18 Dec 2020, 05:30 PM IST

दूनी. सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र दूनी का देवली एसडीओ भारतभूषण गोयल ने गुरुवार निरीक्षण किया। निरीक्षण के दौरान स्टॉक में होने के बावजूद फार्मासिस्ट की लापरवाही से मरीजों को दवाइयां नहीं मिलने सहित अन्य अनियमितता सामने आई तो एसडीओ गोयल दंग रह गए। इस पर उन्होंने तत्काल ब्लॉक सीएमएचओ कैलाश मित्तल सहित चिकित्साप्रभारी को व्यवस्था में सुधार करने के निर्देश दिए।

उल्लेखनीय है कि दोपहर को एसडीओ गोयल स्वास्थ्य केन्द्र का निरीक्षण करने पहुंचे और नि:शुल्क दवा योजना कक्ष में पहुंच गए। इस दौरान उपलब्ध होने के बावजूद मरीजों को दर्द निवारक मलहम नहीं मिलने की जानकारी सामने आने पर एसडीओ दंग रह गए।

इस पर वहा मौजूद ब्लॉक सीएमएचओ मित्तल सहित चिकित्साप्रभारी डॉ. सतीश जोहरवाल को व्यवस्था में सुधार करने के निर्देश दिए। इस दौरान एसडीओ कार्यालय के गजेन्द्रसिंह चौधरी, ब्लॉक सीएमएचओ कार्यालय के बीपीएम रणजीत सिंह, डॉ. सुरेश मीणा, चिकित्साकर्मी राजेन्द्र शर्मा, अनिता शर्मा, शिवराज सिंह, मुकेश बैरवा, सुनिता बैरवा, हीना अंसारी अन्य मौजूद थे।

फार्मासिस्ट ने नहीं की कम्प्यूटर में एन्ट्री

उल्लेखनीय है कि स्वास्थ्य केन्द्र के मुख्यमंत्री नि:शुल्क दवा योजना में करीब चार माह से दर्द निवारक मलहम नहीं आ रही थी, स्वास्थ्य केन्द्र आने वाले वृद्ध सहित अन्य मरीज मलहम को लेकर प्रतिदिन चक्कर लगा रहे थे। इसी दौरान चिकित्सा प्रभारी के प्रयास से दर्द निवारक मलहम आ गई, लेकिन कार्यरत फार्मासिस्ट ने लापरवाही बरत आए मलहम को कम्प्यूटर में चढ़ाने के बजाय अवकाश पर चला गया। इससे मरीजों को मलहम के अभाव में भटकना पड़ रहा था।


उपचार के दौरान मौत

टोडारायसिंह. फूट्यादेवरा के निकट चार दिन पूर्व दुर्घटना में घायल एक बालक की गुरुवार को उपचार के दौरान मौत हो गई। थानाधिकारी अमरसिंह भाटी ने बताया कि मृतक कस्बानिवासी मृतक अनिल (10) पुत्र किशन लाल माली है। गत 13 दिसम्बर को अपनी मां के साथ खेत से टोंक रोड होते हुए फूट्यादेवरा आ रहा था। इसी बीच टोडारायसिंह से तेज गति से आ रहे बाइक चालक ने लापरवाही से बाइक चलाकर अनिल के टक्कर मार दी। घायलावस्था में उसे टोडारायसिंह सीएचसी में प्राथमिक उपचार के बाद जयपुर रेफर कर दिया, जिसका जयपुर अस्पताल में इलाज चल रहा था।

pawan sharma
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned