पैदल जा रहे लोग,तहसील सीमा पर भी नहीं हुई जांच व स्क्रीनिंग

कोरोना वायरस संक्रमण की रोकथाम के लिए प्रधानमंत्री द्वारा देशभर में 21 दिन लॉक डाउन घोषित किए जाने के बाद बाहर से आने वाले व्यक्तियों की जांच करने, घरों से बाहर नहीं निकलने आदि अपील की जा रही है।

अलीगढ़. कोरोना वायरस संक्रमण की रोकथाम के लिए प्रधानमंत्री द्वारा देशभर में 21 दिन लॉक डाउन घोषित किए जाने के बाद बाहर से आने वाले व्यक्तियों की जांच करने, घरों से बाहर नहीं निकलने आदि अपील की जा रही है।

वहीं कोरोना वायरस की रोकथाम के लिए केंद्र व राज्य सरकार की ओर सभी विभागों के प्रशासनिक अधिकारियों व पुलिस प्रशासन को सख्ती से निपटने के लिए आदेश जारी कर मुस्तैद रहकर स्थिति से निपटने के लिए पाबंद कर रखा है।

वहीं उनियारा ब्लॉक के जिम्मेदार अधिकारियों सहित अधीन सभी विभागों के अधिकारी-कर्मचारी आदेश के प्रति लापरवाह नजर आ रहे।

गुरुवार को ऐसा ही एक मामला देखने को मिला जब जयपुर से श्रमिक लॉक डाउन घोषित होने के चलतेे पैदल ही अपने गांव श्योपुर जाने के लिए पैदल सडक़ों पर समूह बनाकर निकल चुके है। इन श्रमिकों की जयपुर से डेढ़ सौ किलोमीटर अलीगढ़ पहुंचने तक किसी भी प्रकार की स्क्रीनिंग नहीं की गई।

वहीं अलीगढ़ तहसील क्षेत्र में भी यह श्रमिक कुछ देर रूक कर आगे बढ़ गए, लेकिन कोई भी प्रशासनिक व चिकित्सा अधिकारी इस दौरान सकर्त नजर नहीं आया। श्रमिक वर्ग में शामिल महिला-पुरुषों को रोककर उनियारा ब्लॉक कांग्रेस कमेटी अध्यक्ष एम.लईक खांन ने मजदूरों से कोरोना वायरस के सम्बन्धी जाँच व स्क्रीनिंग आदि के बारे में जानकारी लेने पर मजदूरों ने बताया कि किसी प्रशासनिक अधिकारियों व पुलिस प्रशासन द्वारा किसी भी जगह जांच व स्क्रीनिंग नहीं करने की बात सामने आई।

इस पर तहसीलदार हनुमान प्रसाद मीना को दूरभाष पर अवगत कराया गया। इसके बाद भी कोई कार्रवाई नहीं हुई। पैदल जा रहे श्योपुर के मजदूरों के लिए नाश्ते आदि व्यवस्था की गई।

Corona virus
MOHAN LAL KUMAWAT Photographer
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned