बीसलपुर के दर्रा में पौधरोपण के लिए दस हजार गड्ढे तैयार

बीसलपुर बांध के तटीय क्षेत्र के निकट दोनों तरफ की पहाडियों के बीच पडऩे वाले दर्रा को हरियाली से आच्छादित करने के लिए वन विभाग की ओर से चारों तरफ खाइयां खोदकर बबूल हटाने के साथ ही भूजलस्तर बढ़ाने के लिए सैकड़ों छोटी-छोटी नाडिया खुदवाने का कार्य लगभग पूरा हो चुका है।

By: pawan sharma

Published: 14 Apr 2021, 07:42 AM IST

राजमहल. बीसलपुर बांध के तटीय क्षेत्र के निकट दोनों तरफ की पहाडियों के बीच पडऩे वाले दर्रा को हरियाली से आच्छादित करने के लिए वन विभाग की ओर से चारों तरफ खाइयां खोदकर बबूल हटाने के साथ ही भूजलस्तर बढ़ाने के लिए सैकड़ों छोटी-छोटी नाडिया खुदवाने का कार्य लगभग पूरा हो चुका है। इन दिनों बीस हजार से अधिक पौधे लगाने के लिए करीब दस हजार गड्ढे भी तैयार हो चुके है, वहीं दस हजार से अधिक गड्ढे खोदने का कार्य लगातार जारी है।


वन क्षेत्र में पिछले एक पखवाड़े से जेसीबी मशीनों से 80 हेक्टेयर भूमि में उगे बबूलों को जड़ों से उखाडऩे का कार्य लगभग पूरा किया जा चुका है। साथ ही दर्रा वाले मैदानी वन क्षेत्र की लगभग 320 बीघा भूमि को दो भागों में बांटकर चारों तरफ मिंट्टी की दिवार बनाकर चारों ओर गहरी खाई खोदने के बाद इन दिनों पौधे लगाने के लिए रोजाना दर्जनों श्रमिक गड्ढे खोदने का कार्य कर रहे है।

उल्लेखनीय है कि बीसलपुर वन क्षेत्र में पहले धोकड़ा व बबूल के पेड़ ही नजर आते थे, जिन्हें हटवाकर बनाए जा रहे प्लांट में अब सागवान, बरगद, पीपल, नीम, चूरेल, कुमठा, अरडु सहित दर्जन प्रजाति के पौधे वन क्षेत्र की सुन्दरता बढ़ाएंगे। वन क्षेत्र में एक साथ 20 हजार से अधिक की तादाद में पौधरोपण के बाद पानी देने के लिए पहाड़ी पर वॉच टावर का निर्माण किया जाएगा।

Show More
pawan sharma
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned