‘एक शाम जवानों के नाम’-कवि सम्मेलन में जमा खूब रंग, श्रोताओं की तालियों ने बढय़ा कवियों का हौसला

मां स्मृति संस्थान की ओर से अखिल भारतीय कवि सम्मेलन पुलिस लाइन परिसर में हुआ

 

By: pawan sharma

Published: 20 May 2018, 08:44 AM IST

टोंक. मां स्मृति संस्थान की ओर से कवि देवीलाल पंवार की पुण्य स्मृति में अखिल भारतीय कवि सम्मेलन ‘एक शाम जवानों के नाम’ का आयोजन शुक्रवार रात पुलिस लाइन परिसर में हुआ। कवि सम्मेलन की शुरुआत पुलिस अधीक्षक योगेश दाधीच, आईपीएस अधिकारी प्रशिक्षु एएसपी अजमेर अमृता सिंह, अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक अवनीश कुमार आदि ने दीप जलाकर की।

 


कवि सम्मेलन का आगाज संचालन कर रहे प्रदीप पंवार ने ‘उन्ही का जीवन हमेशा आबाद रहता है, जिनके साथ मां-बाप का आशीर्वाद रहता है’ कविता प्रस्तुत की। इस पर श्रोताओं ने तालियां बजाई। मां सरस्वती की वंदना जोधपुर से आए दिनेश सिंहल ने की।

 

उन्होंने ‘कोई मेरी राहों में जब शूल बनाता चला गया, मैं पांवों को शूलों के अनुकूल बनाता चला गया’, ‘हमने अपने दिल में ही खुद आग लगाई थी, मौसम बारूदी था और तुम दियासलाई थी’ सुनाकर वाहवाही लूटी। शायर डॉ. जिया टोंकी ने मां को याद करते हुए ‘कैसे कैसे दुख उठाएं उसने बच्चे पाल कर, सारे खुश हंै आज उसको आश्रम में डाल कर, प्रस्तुत कर श्रोताओं को भावविभोर किया। रावतभाटा से आए व्यंग्यकार लक्ष्मीदत्त तरुण ने ‘हम कितने खुशनसीब है, ऊपर वाले को एक मानते हंै, हम कितने बदनसीब है, ऊपर वाले की एक नहीं मानते है’ व्यंग्यकर तालियां बटोरी।

 

हास्य कवि धर्मेन्द्र सोनी ने ‘मोती बिखरेती चलती बेटी फुहार की, फूलों की पालकी में थी बिटियां बहार की, डोली उठाकर चल दिया बाबुल तो गैर की, कांटे थे नंगें पांव की बिटिया कहार की’, प्रदीप पंवार ने ‘हम बुरे हालात को भी खास समझ लेते है, मंूगफली खाकर भी काजू, दाख समझ लेते है, बच्चे का नाम विकास रख कर ही, हो गया विकास समझ लेते है’ ‘ये वतन मेरा ईमान, ये देश मेरा भगवान, इस मुल्क पर मैं कर दूं अपना सब कुर्बान, ये मेरा हिन्दुस्तान, सुनाकर जवानों में देशभक्ति का किया।

 

हास्य कवि महेन्द्र मतवाला, सुरभि शर्मा, प्रभु प्रभाकर, एएसपी अवनीश कुमार शर्मा ने भी कविताओं की प्रस्तुतियां दी। इस मौके पर मणिकांत गर्ग, दिनेश चौरासिया, मनीष तोषनीवाल, रोहित कुमावत, दिनेश शर्मा , डॉ. बी. एल. नामा, महावीर तोगड़ा, रमेशचंद काला, धनराज साहू, भगवान भंडारी, शैलेन्द्र गर्ग, दुर्गेश गुप्ता, रामवतार सिंगोदिया आदि मौजूद थे।

 

Show More
pawan sharma
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned