ग्रामीणों ने किया अनशन स्थिगित, पुलिस ने मांगा एक माह का समय

11 माह बाद भी नहीं लगा चोरी हुई मूर्तियां का सुराग, पुलिस ने मांगा एक माह का समय

 

By: pawan sharma

Published: 06 Jan 2021, 08:56 PM IST

नगरफोर्ट. क्षेत्र के बालापुरा गांव के मोड्या नामक स्थान से 3 फरवरी की मध्यरात्रि को नीलम जैसे दिखने वाली शिवलिंग, अष्टधातु की नंदी की मूर्ति, त्रिशूल आदि मूर्तियां चोरी के आरोपी 11 माह बाद भी पुलिस पकड़ से बाहर है। ग्रामीणों ने कई बार जिला कलक्टर व पुलिस अधीक्षक टोंक को आरोपियों को पकडऩे के लिए ज्ञापन सौंपा, जिसके बावजूद भी अब तक चोरी का कोई सुराग नहीं लग पाया है।

घटना से नाराज ग्रामीणों ने 23 दिसंबर को जिला कलक्टर व जिला पुलिस अधीक्षक को आखिरी ज्ञापन सौंपकर 7 जनवरी को नगरफोर्ट उपतहसील मुख्यालय पर आमरण अनशन की चेतावनी दी गई दी थी। आमरण अनशन की चेतावनी को देखते हुए जांच अधिकारी अलीगढ़ एसएचओ गोविन्द सिंह व नगरफ ोर्ट थानाधिकारी सलीम खान बालापुरा मोडया शिव मंदिर ग्रामीणों के बीच पहुंचे।

जहां पर ग्रामीणों के साथ बैठक कर ग्रामीणों को समझाया और एक माह का समय मांगा। ग्रामीणों ने थानाधिकारी गोविन्द सिंह की बात मानकर एक माह के लिए आमरण अनशन धरना प्रदर्शन स्थगित कर आगामी बैठक 3 फरवरी को मोड्या शिव मंदिर में रखी है।

बैठक में थानाधिकारी गोविन्द सिंह ने कहा कि अभी उन्हें अलीगढ़ थाना का चार्ज लिए दो दिन हुए हैं। इस केस में जांच के लिए उन्हें इस केस संबंधित फइल का अवलोकन कर जल्दी ही चोरी का पर्दाफाश किया जाएगा। इस अवसर मोड्या मंदिर समिति अध्यक्ष दिलीप सिंह, पुजारी जगदीश जाट, पूर्व सरपंच अनीस भारती, कैलाश जाट ,सुरजीत जाट, रामस्वरूप जाट, शंकर जाट, तुलसीराम जाट, प्रभु जाट आदि सहित ग्रामीण मौजूद थे ।

pawan sharma
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned