घटनास्थल का निरीक्षण कर खाली हाथ लौटी पुलिस, चालीस दिन बाद भी नही लगा हत्यारों का सुराग

घटनास्थल का निरीक्षण कर खाली हाथ लौटी पुलिस, चालीस दिन बाद भी नही लगा हत्यारों का सुराग

 

By: pawan sharma

Published: 18 Jan 2021, 06:57 PM IST

दूनी. घाड़ क्षेत्र के गैरोली में गत वर्ष दिसम्बर में धारदार हथियारों से वृद्धा की नृशंस हत्या के इकतालीस दिन बाद रविवार को देवली पुलिस उपाधीक्षक दीपककुमार मीणा ने हत्या मामले के अनुसंधान में गति बढ़ा आरोपी तक पहुंचने को लेकर साक्ष्य जुटाने घटनास्थल पर पहुंचे ओर ग्रामीणों एवं परिजनों से जानकारी ली मगर उन्हें बिना साक्ष्य खाली हाथ लौटना पड़ा।

हालांकि उक्त मामले को लेकर तत्कालीन पुलिस उपाधीक्षक वंदिता राणा, अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक मालपुरा गोर्वधनलाल सोकरिया एवं वर्तमान थानाप्रभारी रामेश्वर मीणा कई बार घटनास्थल का निरीक्षण कर चुके है मगर अब तक वह वृद्धा के हत्यारों तक नहीं पहुंच पाए।

उल्लेखनीय है कि वृद्धा की हत्या मामले को खुलासा कर आरोपी की गिरफ्तारी को लेकर पुलिस अधिकारियों के चक्कर काट रहे परिजनों के दर्द को देखकर राजस्थान पत्रिका की ओर से 17 जनवरी को शीर्षक ‘चालीस दिन बाद भी वृद्धा के हत्यारों का सुराग नहीं’ से खबर प्रकाशित तिकए जाने के बाद देवली पुलिस उपाधीक्षक मीणा मृतक वृद्धा गैरोली निवासी दाखा (75) पत्नी सुवालाल कुमावत के मकान स्थित घटनास्थल पहुचे, हालांकि मकान के ताला लगा होने पर आस-पड़ोस के लोगों एवं रिश्ते में दूर के परिजनों से घटना की जानकारी लेकर साक्ष्य जुटाने का प्रयास किया मगर उन्हें बिना साक्ष्य खाली हाथ लौटना पड़ा।

गौरतलब है कि मंगलवार 8 दिसम्बर 20 की शाम गांव में रहने वाली ने दाखा का शव लहूलहान हालत में चारपाई पर पड़ा देखा, शोर मचाने पर ग्रामीण एकत्रित हो गए। सूचना पर तत्कालीन देवली उपाधीक्षक वंदिता राणा एवं थानाप्रभारी रामेश्वर मीणा ने जाप्ते सहित पहुंच घटनास्थल का निरीक्षण किया। जयपुर से पहुंची एफएसएल टीम ने साक्ष्य जुटाए, इसके बाद पुलिस ने रात होने पर शव को दूनी अस्पताल की मोर्चरी में रखवा दिया।

9 दिसम्बर को वृद्धा के शव का मेडिकल बोर्ड से पोस्टमार्टम कराया मगर मौजूद परिजन-ग्रामीणों ने आरोपी को गिरफ्तार करने के बाद शव लेने पर अड़ गए, सूचना पर गैरोली सरपंच सीताराम भील, बंथली सरपंच श्यामसिंह राजावत सहित सैकड़ों लोग स्वास्थ्य केन्द्र पहुंच गए ओर बीते कई घंटों बाद भी आरोपी को गिरफ्तार नहीं करने को लेकर नाराजगी जता बस स्टेण्ड स्थित सर्कल पर धरने पर बैठ प्रदर्शन शुरू कर दिया।

इस पर तत्कालीन देवली पुलिस उपाधीक्षक राणा, अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक मालपुरा सोकरिया सहित वर्तमान दूनी थानाप्रभारी नाहरसिंह मीणा मौके पर पहुंचे ओर समझाइस करने लगे मगर परिजन एवं ग्रामीण मानने को तैयार नहीं हुए, नाराज महिला, पुरूषों ने राज्य राजमार्ग जाम करने का प्रयास भी किया।

इसके बाद प्रशासन की पहल पर बंथली सरपंच राजावत, गैरोली सरपंच भील व देवड़ावास सरपंच धर्मराज मीणा ने ग्रामीणों से वार्ता कर पुलिस प्रशासन को दस दिन में आरोपी को गिरफ्तार कर हत्या मामले का खुलासा करने का अल्टीमेटम दे उपाधीक्षक को ज्ञापन दिया, बाद में शव लेकर अंतिम संस्कार किया। मगर आज इकतालीस दिन होने के बाद भी पुलिस वृद्धा के हत्यारों को पकडऩे में नाकाम रही। घटनास्थल के निरीक्षण के दौरान उपाधीक्षक सहित जाप्ता भी मौजूद था।

Show More
pawan sharma
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned