video: सर्विस बुक में एसीपी के इन्द्राज की मांग को लेकर प्रबोधकों ने धरना देकर किया प्रदर्शन

pawan sharma | Publish: Feb, 15 2018 10:06:42 AM (IST) Tonk, Rajasthan, India

राजस्थान प्रबोधक संघ की ओर से जिला शिक्षा अधिकारी प्रारम्भिक कार्यालय के बाहर धरना दिया गया।

 

टोंक. एसीपी के स्वीकृत आदेश को जारी कराने की मांग को लेकर राजस्थान प्रबोधक संघ की ओर से बुधवार को जिला शिक्षा अधिकारी प्रारम्भिक कार्यालय के बाहर धरना दिया गया। इसमें जिलेभर से आए प्रबोधक शामिल थे। इस मौके पर प्रबोधक संघ के प्रदेश मंत्री केसरलाल जाट ने बताया कि प्रबोधकों का नौ वर्षीय एसीपी जो कि एक अक्टूबर 2017 से बाकी है। इसका सर्विस बुक में इन्द्राज कर जिले के सभी प्रबोधकों की एसीपी स्वीकृति आदेश जारी किए जाए।

 

 

राजाराम जांगिड़ ने सातवें वेतन आयोग एसीपी लगाने के बाद फिक्सेशन कराने, दिसम्बर व जनवरी का बकाया वेतन जल्द दिलाने की मांग की। उन्होंने पीईईओ के पास सर्विस बुक भेजने से पहले सभी प्रबोधकों की एसीपी व सातवें वेतन आयोग का फिक्सेशन पूरा कराने की मांग की। इस मौके पर गीता कुलश्रेष्ठ, राजेश शर्मा, राधेश्याम चौधरी, रामप्रसाद, नागवंश, शंकरलाल, गंगादान, कैलाश शर्मा, तेजपाल, हरिराम, राजाराम चौधरी आदि शामिल थे।

 

 

 

एपीआरआई शोधार्थियो के लिए लाभकारी
टोंक .मौलाना अबुल कलाम आजाद अरबी फारसी शोध संस्थान में इंग्लैण्ड के स्कॉलर ब्रूस वारनेल ने विभिन्न जानकारियां ली। वारनेल ‘शाह आलम द्वितीय 18 वीं सदी का भारतीय इतिहास’ शोध कर रहे हैं। उन्होंने संस्थान में संधारित मख्तूतात व रेफरेंस लाइब्रेरी से सामग्री जुटाई। उन्होंने तारीख-ए-आलम शाही-मुंशी मुन्नालाल, तारीख-ए-आलम, बदाए-वकाए-आनन्दराम मुख्लिस, तुहफ्तुल आलम व दीवान मजहर जानेजाना, टोंक गजेटियर की जानकारियां ली।

 

 

उन्होंने दुर्लभ ग्रन्थ की सराहना करते हुए कहा कि शोधार्थियो के लिए एपीआरआई लाभकारी व महत्वपूर्ण है। उन्होंने स्कॉलर आर्ट गैलेरी, बेतुलहिकमत, हस्तलिखित ग्रन्थों के डिस्पले हॉल, दस्तकारी कार्य व विश्व की सबसे बड़ी कुरआन को देखी। उन्होंने कहा कि एपीआरआई प्राचीन गं्रथों का खजाना है। संस्थान निदेशक डॉ. सौलत अली खान ने उन्हें कई जानकारियां दी।

 

सदस्यता अभियान पर चर्चा की

टोंक. राजस्थान जाट युवा महासभा टोंक की बैठक बुधवार को डाक बंगले में जिलाध्यक्ष हनुमान जाट की अध्यक्षता में हुई। इसमें सदस्यता अभियान पर चर्चा की गई। साथ ही 20 हजार सदस्य बनाने का निर्णय किया गया। इस मौके पर महासभा के संरक्षक मंडल में गिर्राज डाबला, के. के. चौधरी, मेघराज जाट, बनवारीलाल, कमल, रामस्वरूप, लादूलाल, शंकर, आशीष समेत अन्यों को शामिल किया है।



राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

Ad Block is Banned