सीएए, एनआरसी एवं एनपीआर के विरोध में मोतीबाग टोंक में 39 वे दिन भी जारी रहा धरना

शहर के मोतीबाग क्षेत्र में सीएए, एनआरसी एवं एनपीआर के विरोध में संविधान बचाओ, देश बचाओ को लेकर चल रहा धरना सत्याग्रह शनिवार को 39वे दिन भी जारी रहा।

By: pawan sharma

Published: 01 Mar 2020, 10:47 AM IST

टोंक. शहर के मोतीबाग क्षेत्र में सीएए, एनआरसी एवं एनपीआर के विरोध में संविधान बचाओ, देश बचाओ को लेकर चल रहा धरना सत्याग्रह शनिवार को 39वे दिन भी जारी रहा। शुक्रवार रात धरने को अलीगढ़ मुस्लिम यूनिवर्सिटी के पूर्व कोर्ट सदस्य अरशान खान ने सम्बोधित किया। उन्होंने कहा कि मां और बहनों ने साबित कर दिया कि ये उस कानून को बर्दाश्त नहीं करेगी जो लोगों को गुमराह करने वाला हो।

केंद्र सरकार ने सबका साथ सबका विकास और अल्पसंख्यकों की रक्षा दलितों के अधिकार का संरक्षण की बात कर वोट मांगा था और जीतने के बाद उन्हीं पर जुल्म करना शुरू कर दिया। उनको सताने के लिए नित नए कानून बनाए जा रहे हैं। ऐसी सरकार के विरोध में आवाज उठाना जरूरी है।

भाजपा ने केंद्र में सरकार बनने के बाद कहा था कि देश में सब एक समान है। सब आपस में भाई-भाई है। आज दलितों को निशाना बनाकर सरकार उनसे उनका अधिकार छीन रही है। यह लोग देश में हिंसा की राजनीति कर रहे हैं। इनकी हिंसा का शिकार दलित और मुस्लिम हो रहे हैं। धरने को एडवोकेट मजहर आलम, सरताज अहमद, महबूब उस्मानी, महमूद शाह, मोईन, अयान, अल्तमश आदि ने भी सम्बोधित किया।

फार्मासिस्ट ने काली पट्टी बांध किया कार्य

टोंक. विभिन्न मांगों को लेकर सआदत तथा जनाना अस्पताल के फार्मासिस्ट ने शनिवार को कालीपलट बांधकर कार्यकिया। इसके बाद राजस्थान फार्मासिस्ट कर्मचारी संघ एकीकृत के बैनरतले फार्मासिस्ट सआदत अस्पताल के बाहर धरने पर बैठे रहे। संघ के जिलाध्यक्ष महेश कर्णावत ने बताया कि फार्मासिस्ट की विभिन्न मांगों को लेकर धरना दिया जा रहा है। शनिवार से 3 मार्च तक पदस्थापन स्थान पर काली पट्टी बांधकर विरोध किया जाएगा। वहीं 4 से 10 मार्च तक सुबह 9 से 11 बजे तक अस्पताल में दो घंटे का कार्य बहिष्कार किया जाएगा। इसके बावजूद भी सरकार ने मांगों को निस्तारण नहीं किया तो वे 11 मार्च से सामूहिक अवकाश पर जाएंगे। उन्होंने बताया कि 2 अक्टूबर 2011 से शुरू हुई एमएनडीवाइ योजना में सेवारत फार्मासिस्ट के पदोन्नति केडर व सेवा नियम नहीं बन पाए। ऐसे में फार्मासिस्ट उसी पद से सेवानिवृत हो रहे हैं। धरने में में भगवान माहेश्वरी, घनश्याम मीणा, रंजन बैरवा, भूपेन्द्र, चतन, अनवर, महेन्द्र, दिनेश आदि शािमल थे।

pawan sharma
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned