हवनकुण्ड में आहुतियों के साथ पूर्णाहुति

टोंक. शारदीय नवरात्र पर गुरूवार को जिलेभर में रामनवमी का पर्व मनाया गया। अंतिम नवरात्र पर गुरुवार को माता मंदिरों में श्रद्धालुओं की भीड़ उमड़ी। घरों में नवमी पर माता की लापसी का भोग लगाया गया।

By: jalaluddin khan

Published: 14 Oct 2021, 08:05 PM IST

हवनकुण्ड में आहुतियों के साथ पूर्णाहुति
टोंक. शारदीय नवरात्र पर गुरूवार को जिलेभर में रामनवमी का पर्व मनाया गया। अंतिम नवरात्र पर गुरुवार को माता मंदिरों में श्रद्धालुओं की भीड़ उमड़ी। घरों में नवमी पर माता की लापसी का भोग लगाया गया।


पूजा -अर्चना कर घर परिवार में सुख समृद्धि की कामना की गई। मंदिरों में भी विशेष आयोजन किए गए। नवमी के अवसर शहर के रामकृष्ण मंदिर, तख्ता स्थित रघुनाथ मंदिर, रीको स्थित आंतरिया क बालाजी मंदिर, दूधिया बालाजी, डिपो स्थित बालाजी , बड़ के बालाजी, नसिया के बालाजी आदि मंदिरों में झांकिया सजाई गई।


वहीं डांडिया का भी आयोजन किया गया। पुरानी टोंक गढ़ स्थित बाराही माता मंदिर में छप्पन भोग की झांकी सजाई गई। माता का भी विशेष शृंगार किया गया।

गढ़ परिवार के हनुमान सिंह सोलंकी ने बताया कि माता के मंदिर में विशेष पूजा अचर्ना कर झांकी सजाई गई। इसी प्रकार शहर के अन्य मंदिरों में भी आयोजन किए गए।


लाम्बाहरिसिंह. शारदीय नवरात्रा के चलते गुरुवार को कस्बे सहित क्षेत्र के गांवों में घर-घर में श्रद्धालुओं ने कुलदेवी की पूजा अर्चना कर सुख-समृद्वि की कामना की गई। वहीं घर-घर कन्याओं का पूजन कर भोजन कराया गया।


कस्बे में रामसागर बांध की पाळ पर स्थित चामुण्डा माता मंदिर पुजारी सत्यनारायण पारीक ने बताया कि मां चामुण्डा माता सेवा समिति तत्वावधान में चल रहे नौ दिवसीय दुर्गा सप्तशती शतचण्डी पठन का आचार्य पण्डित श्यामसुन्दर पारीक के सान्निध्य में यजमानों ने हवनकुण्ड में आहुतिया देने के साथ पूर्णाहुति हुई।


महिला मण्डल के तत्वावधान में नौ देवियों की संजीव झांकिया सजाकर संगीतमय महाआरती कर भोग लगा कन्याओं का पूजन कर पंगत प्रसादी वितरण की गई। समिति सदस्य लीला काबरा ने बताया कि मंदिर परिसर में प्रतियोगिताओं का आयोजन कर विजेताओं को पुरस्कृत किया गया। सिंधोलिया स्थित सिंधोलिया माता मंदिर, भोपालाव मंदिरों में दर्शनार्थियों का तांता लगा रहा।


उनियारा. तबेला स्थित केला मैया मंदिर परिसर में नवमी पर मां काली की झांकी सजाई गई। झांकी के दर्शन के लिए भक्तों का तांता लगा रहा। पंडित भंवर सिंह हाडा के सान्निध्य में मां काली की आरती की गई।


पारली. अश्विन शुक्ल नवमी के दिन क्षेत्र में दुर्गा नवमी का पर्व हर्षोल्लास के साथ मनाया गया।श्रद्धालुओं ने घरों में माता रानी की आराधना कर पूजा पाठ किया। चामुंडा माता के स्थान पर व मोहल्ला चारणान स्थित करणी माता के मंदिर में भोग लगाया। प्राचीन गढ़ में माता शक्ति की विधिवत पूजा अर्चना की गई। आखतडी़ में स्थित माता रानी के स्थान पर पूजा की गई।

jalaluddin khan Reporting
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned