चरागाह भूमी पर कब्जे को लेकर दो पक्ष भिड़े, 32 घायल , 13 को जयपुर रेफर किया

माधोनगर (खेडिया) गांव में मंगलवार देर रात चरागाह भूमि पर कब्जे के विवाद के चलते दो पक्षों में खूनी संघर्ष हो गया। इसमें 32 जने घायल हो गए। इनमें से 13 को जयपुर रेफर किया है।

By: pawan sharma

Published: 15 Sep 2021, 08:15 PM IST

पचेवर. थाना क्षेत्र के माधोनगर (खेडिया) गांव में मंगलवार देर रात चरागाह भूमि पर कब्जे के विवाद के चलते दो पक्षों में खूनी संघर्ष हो गया। इसमें 32 जने घायल हो गए। इनमें से 13 को जयपुर रेफर किया है। सूचना पर पचेवर थाना अधिकारी नरेन्द्र सिंह जाप्ते के साथ मौके पर पहुंचे। पुलिस की सूचना पर पचेवर व मालपुरा से दो एम्बुलेंस मौके पर पहुंची।


जहां से पुलिस ने एम्बुलेंस व निजी वाहनों से सभी घायलों को उपचार के लिए मालपुरा अस्पताल पहुंचाया। वहीं रात को ही मालपुरा अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक राकेश कुमार बैरवा व पुलिस उपाधीक्षक चक्रवर्ती सिंह ने मालपुरा अस्पताल पहुंचकर घायलों से मामले की जानकारी ली।

साथ ही रात को माधोनगर गांव में दोनों पक्षों के बीच हुए झगड़ा स्थल पर शांति व्यवस्था बनाने के लिए आरएसी के जवान तैनात किए गए। बुधवार सुबह मालपुरा सीओ चक्रवर्ती सिंह राठौड़ ने माधोनगर गांव पहुंचकर मौका निरीक्षण किया। इसी के साथ पचेवर थाना अधिकारी से मामले की जानकारी ली।

सीओ ने मालपुरा तहसीलदार के साथ विवादित जमीन का निरीक्षण किया। इसके बाद विवादित भूमि से अतिक्रमण हटाने का निर्णय किया गया। थाना अधिकारी नरेन्द्र सिंह ने बताया कि क्षेत्र के माधोनगर गांव में चरागाह भूमि पर कब्जे को लेकर कुछ दिन पहले दो पक्षों में झगड़ा हो गया था।

इसमें महिलाएं सहित कुछ लोग घायल हो गए थे। दोनों पक्षों ने पचेवर थाने में शिकायत दी थी। पुलिस ने दोनों पक्षों के तीन लोगों को शांतिभंग के आरोप में गिरफ्तार किया था, लेकिन दोनों पक्षों के मुकदमे दर्ज नहीं किए गए थे। मंगलवार देर रात फिर दोनों पक्षों में पहले मारपीट और बाद में लाठी-भाटा जंग हो गई।

इसमें 32 लोग घायल हो गए। इनमें एक पक्ष के प्रधान चौधरी पुत्र गोपाल, रामप्यारी पत्नी रामनिवास, रामनिवास पुत्र गोपीलाल, गोपाल पुत्र बन्नालाल, सुमन पुत्री अखेराम, मदन पुत्र किशन लाल, मांगीलाल पुत्र बालू, सत्यनारायण पुत्र गोपीलाल, हरिराम पुत्र बन्ना, मनराज पुत्र मन्नीराम, मनराज पत्नी बालू, छोटी पत्नी सत्यनारायण, नोसर पत्नी गोपाल, गलोल पत्नी गोपाल, उर्मिला पत्नी मदन लाल, मोनिका पुत्री केदार, अखेराम पुत्र सत्यनारायण, गोपाली पत्नी धन्नालाल, हनुमान पुत्र गोपाल, केदार पुत्र राम नारायण तथा दूसरे पक्ष के बद्री जाट पुत्र हीरालाल, बैजनाथ पुत्र उद्दा, गिरधारी पुत्र हीरालाल, नंदलाल पुत्र बद्री, कमला पत्नी कल्याण, गीता पत्नी बद्री, कमला पत्नी गोपाल, रामकन्या पत्नी बैजनाथ, हनुमान पुत्र गोपाल, अनीता पत्नी हनुमान, विनोद पुत्र बैजनाथ, अखेराम पुत्र गोपाल सहित अन्य शामिल है।

जिन्हें मालपुरा चिकित्सालय में भर्ती कराया गया। जहां से एक पक्ष के गम्भीर घायल प्रधान पुत्र गोपाल, रामप्यारी पत्नी रामनिवास, रामनिवास पुत्र गोपीलाल, अखेराम पुत्र सत्यनारायण, मनराज पुत्र मनीराम, मनराज पत्नी बालू, मांगी लाल पुत्र बालू, सत्यनारायण पुत्र गोपीलाल तथा दूसरे पक्ष के बद्री पुत्र हीरालाल, राम कन्या पत्नी बैजनाथ, कमला पत्नी गोपाल, बैजनाथ पुत्र उद्दा, अखेराम पुत्र गोपाल को जयपुर रेफर किया। इधर, पुलिस ने परस्पर मामले दर्ज कर लिए हैं।

पुलिस ने बताया कि दोनों ही पक्ष चरागाह पर अतिक्रमण करना चाहते थे। गत दिनों प्रशासन ने कुछ अतिक्रमण हटाया था। इसमें दूसरे पक्ष ने अतिक्रमण हटवाने का आरोप लगाया। इसी बात को लेकर उनमें कुछ दिनों से झगड़ा चल रहा था।

pawan sharma
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned