भाई-बहन के प्यार पर कोरोना की मार, बंदी भाईयों की कलाई रहेगी सूनी

कोरोना संक्रमण का असर त्योहारों पर भी पडऩे लगा है। जेल में इस बार मुलाकात बंद होने के चलते बहनें अपने भाइयों को राखी नहीं बांध सकेंगी।

By: pawan sharma

Published: 02 Aug 2020, 09:05 PM IST

टोंक. कोरोना संक्रमण का असर त्योहारों पर भी पडऩे लगा है। जेल में इस बार मुलाकात बंद होने के चलते बहनें अपने भाइयों को राखी नहीं बांध सकेंगी। टोंक जेल में वर्तमान में 332 व मालपुरा उपकारागृह में 21 बंदी है। रक्षाबंधन पर बंदियों की कलाई पर राखी बांधने के लिए दूर-दूर से बहनें जिला जेल पहुंचती हैं। जिला कारागृह टोंक अधीक्षक बीएल मीणा ने बताया की मार्च महीने से कोरोना महामारी को ध्यान में रखते हुए जेल में बंद बंदियों से मिलने पर पूरी तरह से प्रतिबंधित है।


उन्होंने बताया कि हाईकोर्ट की गाइड लाइन के मुताबिक जेल में सावधानी बरती जा रही है। हाल ही में ईद पर भी किसी भी बंंदी को परिजनों से मिलने की अनुमति नहीं दी गई। इसी तरह रक्षाबंधन पर भी किसी भी बंदी से परिजनों को मिलने व राखी बांधने की अनुमति नहीं होगी।


मीणा ने बताया कि हर वर्ष की तरह रोटरी क्लब की ओर से आयोजित किया जाने वाला रक्षाबंधन का समारोह भी इस बार स्थगित गया गया है। उन्होंने बताया कि जिला कारागृह टोंक में बंदियों के लिए दो एसटीडी की सुविधा उपलब्ध कराई गई है, जहां से बंदी अपने परिजनों से बातचीत कर सकता है साथ ही विडियों कॉलिंग भी कराई जाती है।


भाई की कलाई पर सजेगा बहना का प्यार
टोंक. सावन के अंतिम सोमवार को रक्षाबंधन का पर्व श्रावण पूर्णिमा पर 3 अगस्त को जिले सहित ग्रामीण क्षेत्रों में मनाया जाएगा। इस दिन भाइयों की कलाई पर बहनें राखी बांधकर उनसे रक्षा का वचन लेंगी। इस बार रक्षाबंधन के अवसर पर सर्वार्थ सिद्धि व दीर्घायु आयुष्मान योग बन रहा है।

साथ ही इस बार भद्रा और ग्रहण का भी रक्षाबंधन पर कोई साया नहीं है। इस बार दो अगस्त को रात में 9.29 बजे से भद्रा शुरू होगी जो तीन अगस्त सोमवार को सुबह 9.25 तक रहेगी । इस काल में रक्षाबंधन का पर्व मनाना शुभ नहीं माना गया है। मनु जयोतिष एवं वास्तु शोध संस्थान टोंक के निदेशक बाबूलाल शास्त्री ने बताया कि शुभ सुबह 9.26 बजे से 10.53 बजे तक, चर-दोपहर 2.12 बजे से 3.52बजे तक, लाभ, दोपहर 3.52 बजे से 5.31 बजे तक अमृत, शाम 5.31 बजे से 7.10बजे तक शुभाशुभ मुहूर्त है।

अभिजित मुहुर्त दोपहर 12.6 बजे से 12.59 बजे तक अति श्रेष्ठ है। शास्त्री ने बताया कि इस साल रक्षा बंधन पर्व पर सिद्धि और आयुष्मान योग बन रहे हैं। इन शुभ योग में रक्षाबंधन का पर्व भाई और बहनों की दीर्घायु, समृद्धि, सुख, सौभाग्य से परिपूर्ण रहेगा।

pawan sharma
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned