video : रथयात्रा निकाली: भगवान शांतिनाथ की सोने के कलशों से व्रहद शांति धारा

Mohan Lal Kumawat

Updated: 15 Oct 2019, 09:51:37 AM (IST)

Tonk, Tonk, Rajasthan, India

टोंक. शांतिनाथ दिगंबर जैन अतिशय क्षेत्र सांखना Jain superficial field training में आयोजित 446 वें वार्षिक उत्सव annual festival एवं दो दिवसीय मेला समारोह के तहत सोमवार सुबह भगवान शांतिनाथ का अभिषेक Abhishek of Lord Shantinath एवं शांति धारा कर नित्य नियम पूजा Regular rule worship by doing peace stream की गई। वार्षिक उत्सव के तहत भगवान शांतिनाथ की सोने के कलशों Gold urns से व्रहद शांति धारा की गई।

read more : छात्राओं व शिक्षिका से छेड़छाड़ के आरोपी शिक्षक के खिलाफ मामला दर्ज, फिर भी स्कूल में ही पदस्थापित
श्रीजी का प्रथम अभिषेक एवं शांति धारा स्वर्ण झारी Abhishek and Shanti Dhara Golden Jhaari से श्रीनारायण, संजय, सतीश, कपिल ने किया। विधि नायक अभिषेक, शांतिधारा, रजत झारी से भैरू प्रकाश, पारस कुमार ने किया। श्रीजी के तीन खंडी स्वर्ण छत्र निर्मल कुमार, राजेश कुमार, प्रतीक, सिद्धार्थ सोनी पुरानी टोंक ने किया।

राजेश अरिहंत ने बताया कि वार्षिक उत्सव के तहत मंदिर परिसर में गोकुल चंद, विमल कुमार ढेठाणी की ओर से झंडारोहण किया। बाद में श्रीजी की रथयात्रा निकाली गई। इसमें श्रीजी को रथ में लेकर कैलाश चंद, सुरेंद्र कुमार बैठे। रथ का सारथी टीकम चंद, बसंतीलाल डोसी बने। रत्नों की वर्षा करने वाले कुबेर सोभागमल, पदमचंद बने। श्रीजी के चंवर ढूलाने वाले इंद्र कपिल गर्ग देवली, अर्चित कुमार भरनी बने।

read more : मालपुरा कर्फ्यू में ढील के बाद बढ़ी चहल-कदमी, आज सुबह 6 से शाम 6 बजे तक रहेगी12 घंटे की ढील

भगवान शांतिनाथ की रथयात्रा पूरे सांखना गांव में निकाली गई। इसमें बैंड-बाजे के साथ समाज के महिला-पुरुष केसरिया ध्वज हाथों में थामे चल रहे थे। बैंड की मधुर धुनों पर श्रद्धालु भाव विभोर होकर नृत्य कर रहे थे। रथ यात्रा का लोगों ने स्वागत कर घरों के बाहर श्रीजी की आरती उतारी। रथ यात्रा पर पुष्प वर्षा की रथ यात्रा में महिला-पुरुष झूमते नाचते गाते चल रहे थे। बाद में रथ यात्रा वापस मंदिर परिसर पहुंची।

जहां श्रीजी को समोशरण में विराजमान कर श्रीजी की भक्ति भाव के साथ पूजा कर अष्ट द्रव्य चढ़ाए गए। श्रद्धालुओं के जयकारों के बीच श्रीजी का जलाभिषेक किया गया। जलाभिषेक से प्राप्त गंदोधक को श्रद्धालूओं ने मस्तक पर लगा कर भगवान से आशीर्वाद लिया। इस अवसर पर श्रीजी की माला सुरेश कुमार सर्राफ ने पहनी। अतिथियों ने शांतिनाथ मंडल विधान पुस्तक का विमोचन किया।

read more : महिलाओं ने ब्लेड से गुप्तांगों पर हमला कर बुर्जुग को किया घायल , निजी अस्पताल में चल रहा है उपचार
वार्षिक उत्सव में अध्यक्ष भागचंद टोंगिया, पूर्व विधायक अजीत मेहता, प्रधान जगदीश गुर्जर, सांखना सरपंच शिव नन्दन चौधरी, पीसी छाबड़ा, तेजमल एडवोकेट, महावीर प्रसाद, नोरतमल गर्ग, हुकुम चंद आदि अतिथियों सहित छान, भरनी, दूनी, बंथली, आवां, नैनवां, बूंदी, कोटा, निवाई, टोंक, जयपुर, दिल्ली, मुंबई आदि स्थानों से श्रद्धालु मौजूद थे।


समापन अवसर पर अध्यक्ष प्रकाश सोनी, मंत्री प्यार चंद जैन, ललित पाटनी एवं मंदिर समिति के सदस्यों ने अतिथियों का स्वागत व सम्मान किया। शाम को भगवान की महाआरती की गई।

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned