गांधी के जीवन दर्शन को हर व्यक्ति जीवन में चरितार्थ करें - पुलिस अधीक्षक

पुलिस अधीक्षक ओम प्रकाश ने कहा हर व्यक्ति गांधी दर्शन को अगर अपने जीवन में उतार ले तो विश्व में आतंकवाद से लेकर जो परिस्थितियां बनी हुई है, वह स्वत: ही समाप्त हो जाएगी। आज संपूर्ण विश्व को महात्मा गांधी के अहिंसा के सिद्धांत को चरितार्थ करने की आवश्यकता है।

By: pawan sharma

Updated: 06 Oct 2021, 03:03 PM IST

टोंक. जिला प्रशासन एवं महात्मा गांधी जीवन दर्शन समिति के संयुक्त तत्वावधान में मंगलवार को ‘‘गांधी सप्ताह‘‘ के कार्यक्रमों की शृंखला में राजकीय महाविद्यालय टोंक सभागार में वर्तमान परिप्रेक्ष्य में गांधी दर्शन पर संगोष्ठी आयोजित की गई। महात्मा गांधी जीवन दर्शन समिती के टोंक ब्लॉक संयोजक विकास विजयवर्गीय ने बताया कि सबसे पहले अतिथियों द्वारा महात्मा गांधी जी के छायाचित्र पर सूत की माला, पुष्पमाला एवं दीप प्रज्वलित कर कार्यक्रम की विधिवत शुरुआत की गई।


मुख्य अतिथि पुलिस अधीक्षक ओम प्रकाश एवं अध्यक्षता महात्मा गांधी जीवन दर्शन समिति जिला संयोजक अनुराग गौतम ने की । पुलिस अधीक्षक मुख्य अतिथि ओम प्रकाश ने कहा हर व्यक्ति गांधी दर्शन को अगर अपने जीवन में उतार ले तो विश्व में आतंकवाद से लेकर जो परिस्थितियां बनी हुई है, वह स्वत: ही समाप्त हो जाएगी। आज संपूर्ण विश्व को महात्मा गांधी के अहिंसा के सिद्धांत को चरितार्थ करने की आवश्यकता है। गांधीवादी विचारक डॉ. प्रकाश चंद जैन ने सहज व सरल तरीके से गांधी के जीवन दर्शन पर प्रकाश डाला।

उन्होंने कहा कि गांधी दर्शन को अपने कार्य से विभिन्न रूपों के अंतर्गत जीवन में चरितार्थ किया जा सकता है। गांधी जीवन दर्शन में किसी व्यक्ति विशेष के कर्म को एक भूमिका में नहीं बांधा जा सकता। महात्मा गांधी जीवन दर्शन समिति के जिला संयोजक अनुराग गौतम ने गांधी दर्शन पर अपने विचार व्यक्त करते हुए कहा कि प्रकृति मानव जीवन मे आवश्यकता की पूर्ति करती है, महत्वाकांक्षाओं कि नहीं। उन्होंने पर्यावरण संरक्षण के आधार पर गांधी दर्शन पर विशेष प्रकाश डाला।

कार्यक्रम प्रभारी जिला भू-प्रबंध अधिकारी परशुराम धानका ने गांधी दर्शन पर विचार रखते हुए कहा कि समस्त शिक्षकों को विद्यार्थियों में महात्मा गांधी के संदेश को अधिक से अधिक मनन करने के लिए प्रेरित करने की आवश्यकता है। ताकी वो ग्रहण किये गए ज्ञान एव विचारों का आदान प्रदान कर मानव जीवन को सुनियोजित गांधी दर्शन के तरीके से जीने का हुनर प्राप्त करे।

सहायक आचार्य सुषमा पांडे ने गांधी दर्शन पर गीत एव काव्यलय के माध्यम से शांति का संदेश उपस्थित गणमान्य लोगों तक पहुचाया। मुख्य जिला शिक्षा अधिकारी रामनिवास शर्मा ने कहा कि यहां उपस्थित सभी शिक्षक गांधी के विचारों को यहां से लेकर जाए, ताकि आपके द्वारा आने वाले देश के युवाओं को आप प्रेरणा दे सकें। ताकि वह अपने जीवन में गांधी जी के जीवन दर्शन को समायोजित कर सकें। राजकीय स्नातकोत्तर महाविद्यालय के प्राचार्य डॉ.बी.एल बैरवा ने कहा कि वर्तमान समय में महात्मा गांधी के दर्शन की महती भूमिका है।

pawan sharma
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned