लोकसभा चुनावों को लेकर कानून व्यवस्थाओं की समीक्षा की

https://www.patrika.com/rajasthan-news/

By: pawan sharma

Published: 29 Mar 2019, 02:58 PM IST

मालपुरा. पंचायत समिति के राजीव गंाधी सभागार में वृताधिकारी जयसिंह नाथावत की अध्यक्षता में आगामी लोकसभा चुनावों को लेकर विधानसभा क्षेत्र में कानून व्यवस्था की व्यवस्थाओं को लेकर विधानसभा क्षेत्र के सभी थाना प्रभारियों व अन्य कर्मचारियों की बैठक ली गई, जिसमें भयग्रस्त क्षेत्रों के चिह्नीकरण, संवेदनशील व अतिसंवेदनशील मतदान केन्द्रों को लेकर चर्चा की गई।

 

बैठक को सम्बोधित करते हुए वृताधिकारी जयसिंह नाथावत ने कहा कि निर्वाचन का कार्य निष्पक्ष रूप से होना चाहिए तथा मतदाताओं द्वारा किए जाने वाले मतदान में पूर्ण पारदर्शिता होनी चाहिए, जिसमें सुरक्षा व्यवस्था महत्पूर्ण व्यवस्था है।

 

मतदान क्षेत्र में सुरक्षा व्यवस्था बनाए रखने के लिए आवश्यक सुविधाओं के बारे में भी थाना प्रभारियों से जानकारी ली। बैठक में मालपुरा, टोडारायसिंह थाना, मालपुरा कस्बा चौकी प्रभारी, पचेवर थाना, डिग्गी थाना, लाम्बाहरिसिंह थाना मौजूद थे। निर्वाचन विभाग के गौरव पारीक व रमेश चन्द जैन ने वीवीपेट मशीन संचालन, कार्यप्रणाली के बारे में विस्तार से जानकारी दी गई।


शिविर में दी जानकारी
टोंक. अपर जिला एवं सेशन न्यायाधीश व जिला विधिक सेवा प्राधिकरण के सचिव पंकज बंसल की मौजूदगी में शिव शिक्षा समिति रानोली की ओर से विधिक साक्षरता शिविर का आयोजन किया गया।

 

इसमें बंसल ने कहा कि किसी भी देश के विकास का रास्ता महिलाओं से होकर ही जाता है। बाल विवाह होने से स्त्री व पुरुष का शारीरिक व मानसिक विकास प्राकृतिक रूप से नहीं हो पाता है।

 

बाल विवाह का सबसे बुरा प्रभाव महिलाओं पर होता है। उन्होंने कहा कि बाल विवाह में किसी भी तरह का सहयोग करने तथा शामिल होने वालों के खिलाफ कानूनी कार्रवाई की जाती है।

 


उन्होंने असंगठित क्षेत्र के श्रमिकों के लिए विधिक सेवाएं योजना, बच्चों को मैत्रीपूर्ण विधिक, संरक्षण के लिए विधिक योजना, वरिष्ठ नागरिकों की योजना की जानकारी दी। इस अवसर पर सीताराम शर्मा, पूनम जिंदल, गणेश गुर्जर, पूजा महावर, सोनी, प्रमिला आदि मौजूद थे।

 

 

pawan sharma
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned