आज रात से रोडवेज बसें बंद करने की चेतावनी दी, रोडवेजेकर्मियों ने प्रदर्शन कर सरकार के खिलाफ लगाए नारे

आज रात से रोडवेज बसें बंद करने की चेतावनी दी, रोडवेजेकर्मियों ने  प्रदर्शन कर सरकार के खिलाफ लगाए नारे

pawan sharma | Publish: Sep, 16 2018 09:54:57 AM (IST) Tonk, Rajasthan, India

रोडवेजेकर्मियों ने शनिवार सुबह से केन्द्रीय बस स्टैण्ड पर दो दिवसीय धरना शुरू किया है। ये धरना रविवार रात तक रहेगा। इसके बाद हड़ताल में बदल जाएगा।

 

टोंक. सरकार व रोडवेजकर्मियों के संयुक्त मोर्चेके बीच हुए समझोते को लागू नहीं किए जाने से नाराज रोडवेजकर्मी रविवार रात 12 बजे से रोडवेज बसों का जाम करेंगे। वे इसी के साथ हड़ताल भी शुरू कर देंगे। ये हड़ताल सोमवार रात 12 बजे तक रहेगी।

 

इससे पहले रोडवेजेकर्मियों ने शनिवार सुबह से केन्द्रीय बस स्टैण्ड पर दो दिवसीय धरना शुरू किया है। ये धरना रविवार रात तक रहेगा। इसके बाद हड़ताल में बदल जाएगा। राजस्थान रोडवेज मजदूर कांग्रेस इंटक शखा टोंक के अध्यक्ष अशफाक मोहम्मद ने बताया कि गत 27 जुलाई को परिवहन मंत्री की अध्यक्षता में रोडवेज श्रमिक संगठनों के संयुक्त मोर्चाकी बैठक हुई थी। इसमें सरकार तथा संयुक्त मोर्चा के बीच समझोता हुआ था।

 


इसे सरकार की ओर से लागू करना था, लेकिन दो महीने बाद भी सरकार ने समझोते को लागू नहीं किया। इससे रोडवेजकर्मियों में नाराजगी हो गई और गत 12 सितम्बर को धरना देकर सरकार को चेतावनी दी गई। इसके बाद सरकार ने मांगों का निस्तारण नहीं किया। इसके बाद शनिवार से धरना शुरू कर दिया।


उन्होंने बताया कि धरने पर बैठे रोडवेजकर्मियों ने सरकार के खिलाफ नारे लगाए तथा नाराजगी जाहिर की। एटक के शाखा अध्यक्ष शंकर जांगिड़, कल्याण समिति के अध्यक्ष राधेश्याम मीणा, इंटक जिलाध्यक्ष पुष्पेन्द्र शर्मा, राशिद मोहम्मद, शिवजीराम चौधरी, अजीज खां, कैलाशचंद शर्मा, मोहम्मद रईस खान, गोपाल सैनी, दीपक राणा, सत्यनारायण शर्मा, रामबाबू पंवार, छोटूलाल प्रजापत, सत्यनारायण शर्मा, रामलाल, घासीलाल, मोहम्मद अतीक खान, राजेन्द्र शर्मा, बाबूलाल, माकूल खां धरने पर बैठे हैं।

 

काली पट्टी बांधकर कार्य किया
बंथली. वेतन विसंगतियों को दूर करने की मांग को लेकर शनिवार को क्षेत्र के स्वास्थ्य केन्द्रों पर कार्यरत लैब-टेक्नीशियनों ने काली पट्टी बांधकर कार्य किया। धुवांकला में कार्यरत लैब-टेक्नीशियन अजय मेहरा ने बताया कि चिकित्सा विभाग का यह केडर नर्सिंग केडर के समान वेतन पाता था, लेकिन वेतन विसंगतियों के चलते केडर पिछड़ रहा है।

 

उन्होंने बताया कि नर्सिंग केडर की ग्रेड पे 4200 है जबकी लेब-टेक्नीशियन की ग्रेड पे 2800 है।
उन्होंने बताया कि सोमवार को सभी कार्मिक दो घंटे कार्य का बहिष्कार करेंगे। इससे भी हल नहीं निकलने पर 28 सितम्बर को पूर्णकालीन हड़ताल की जाएगी। क्षेत्र के सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र दूनी सहित धुवांकला, घाड़ नगरफोर्ट सहित क्षेत्र के अन्य स्वास्थ्य केन्द्रों पर ले-टेक्नीशियनों ने काली पट्टी बांध विरोध जताया।

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

Ad Block is Banned