सचिन पायलट ने देखी खामियां तो कलक्टर ने किया अस्पताल का दौरा

टोंक विधायक पायलट के निरीक्षण के 24 घंटे बाद जिला कलक्टर चिन्मयी गोपाल के निरीक्षण के दौरान व्यवस्थाएं फिर से जस की तस नजर आई।

By: pawan sharma

Updated: 13 Oct 2021, 07:45 PM IST

टोंक. जिले के सबसे बड़े सआदत अस्पताल की मंगलवार को अव्यवस्थाओं को देख नाखुश हुए टोंक विधायक सचिन पायलट के निर्देशों के बाद बुधवार को जिला प्रशासन की नींद तो टूटी, लेकिन जिला कलक्टर चिन्मयी गोपाल के निरीक्षण के दौरान व्यवस्थाएं फिर से जस की तस नजर आई। निरीक्षण के दौरान अस्पताल के 40 चिकित्साधिकारी-कर्मचारियों की उपस्थिति पंजिका में हस्ताक्षर तो मिले, लेकिन नदारद मिले।

कलक्टर चिन्मयी गोपाल ने उपस्थिति रजिस्टर को जब्त कर लिया। जिला कलक्टर चिन्मयी गोपाल ने जिले के प्रशासनिक अधिकारियों के साथ सआदत अस्पताल व मातृ एवं शिशु स्वास्थ्य केन्द्र का जायजा लिया और अस्पताल में अव्यवस्थाओं को देख अस्पताल प्रशासन को जल्द से जल्द अस्पताल की व्यवस्थाओं को सुधारने निर्देश दिए।

वहीं जिला कलक्टर के निरीक्षण के दौरान कई मरीजों के परिजनों ने डॉक्टरों की कार्यशैली पर सवालियां निशान भी खड़े किए। मरीज के परिजनों ने लेबर रूम के कर्मचारी व चिकित्सकों द्वारा दुव्र्यवहार किए जाने के भी खुलकर आरोप लगाए। वहीं वार्ड में पलगों की कमी के चलते कई प्रसूताओं सहित अन्य मरीज टेबल पर भर्ती मिले।

कलक्टर ने अस्पताल में हर समय सफाई व्यवस्था दुरस्त रखने के लिए ठेकेदार व सफ ाईकर्मियों को निर्देश दिए। निरीक्षण के दौरान अतिरिक्त जिला कलक्टर मुरारी लाल शर्मा, उपखण्ड अधिकारी नित्या के, प्रमुख चिकित्सा अधिकारी डॉ अशोक यादव, प्रमुख चिकित्सा अधिकारी डॉ खेमराज बंशीवाल, शिशु रोग विशेषज्ञ व एमसीएच प्रभारी डॉ जगदीश गुर्जर, नर्सिंग अधीक्षक रामस्वरूप सैनी, व रामगोपाल मीणा, मेलनर्स नर्स व कोविड कंट्रोल प्रभारी विकास वैष्णव, मेल नर्स मुकेश शर्मा आदि सहित अन्य कर्मचारी मौजूद रहे।

डिमाण्ड नहीं भेजी

सआदत अस्पताल में निडिल नहीं मिलने के मामले में सीएमएचओ अशोक यादव ने जिला कलक्टर को बताया कि सआदत अस्पताल की ओर से मांग नहीं भेजे जाने के कारण निडिल की आपूर्ति नहीं की गई। ऐसे में निडिल की आपूर्ति नहीं की गई। गोरतलब है कि टोंक विधायक को निरीक्षण के दौरान निडिल का पांच दिन से अभाव होना सामने आया था।


फिर दिए आदेश

अस्पताल के निरीक्षण के बाद पत्रकारों से बातचतीत करते हुए कलक्टर ने कहा कि दोनों अस्पतालों का वो स्वयं या उनका कोई भी प्रतिनिधि सप्ताह में एक या दो बार निरीक्षण करेंगे। उल्लेखनिय है पहले भी विगत माह में अस्पताल के निरीक्षण के दौरान मिली खामियां व शिकायतों को लेकर कलक्टर ने कहा था कि व्यवस्थाओं ओर कमियों के सुधार के लिए सप्ताह में एडीएम व एसडीएम अस्पताल का दौरा करेंगे।


25 में से एक भी नहीं मिला
निरीक्षण के दौरान हाल ही में की गई सीएचएस भर्तियों के 25 में से एक भी उपस्थिति नहीं मिले। ना ही उनकी कोई हाजिरी हो रही है। ऐसे में कलक्टर ने इसे गंभीर मामला माना है।

Show More
pawan sharma
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned