वैदिक मंत्रोच्चार के पठन से गूंज उठा देवली बोरड़ा गणेश मन्दिर परिसर, पुरुषोत्तम माह में हो रहा विश्वशांति यज्ञ का आयोजन

pawan sharma

Publish: May, 18 2018 03:55:58 PM (IST)

Tonk, Rajasthan, India
वैदिक मंत्रोच्चार के पठन से गूंज उठा देवली बोरड़ा गणेश मन्दिर परिसर, पुरुषोत्तम माह में हो रहा विश्वशांति यज्ञ का आयोजन

उक्त महायज्ञ के आयोजन के पीछे विश्वशांति व वर्तमान ज्वलंत समस्याओं का निराकरण मुख्य उद्देश्य है।

 

देवली. भगवान गुरुकृपा संस्थान देवली के तत्वावधान में गुरुवार से बोरड़ा स्थित गणेश मन्दिर में चार दिवसीय संकटहर्ता गणपति महायज्ञ की शुरुआत हुई। इस मौके पर पहले दिन श्रद्धालुओं ने यज्ञ कुण्ड में आहुतियां दी।यज्ञ समिति से जुड़े मुकेश गौतम ने बताया कि सुबह सभी मण्डलों की गणपति पूजा हुई। वहीं विधिवत मंत्रोच्चार के साथ अग्नि मंथन हुआ।

 

यहां काशी के पं. जन्मेजय व पुष्कर से आए पं. राजेश, गौरव, गोपाल, भगवती प्रसाद ने मंत्रोच्चार के साथ हवन कराया। इस दौरान सुबह 9 से 11, दोपहर 12.30 से 2 व 2:30 से 4 बजे तक तीन पारियों में श्रद्धालुओं ने आहुतियां दी। यज्ञ के दौरान वैदिक मंत्रोच्चार के पठन से मन्दिर परिसर गंूज उठा।

 

इस मौके पर भगवान की गणेश की मनमोहन झांकी भी सजाई गई। पहले दिन नगर पालिका उपाध्यक्ष जितेन्द्र चौधरी, पार्षद अवनि जिन्दल, नवल मंगल , सौरभ जिन्दल आदि यज्ञ में शामिल हुए। पं. मुकेश गौतम ने बताया कि उक्त महायज्ञ के आयोजन के पीछे विश्वशांति व वर्तमान ज्वलंत समस्याओं का निराकरण मुख्य उद्देश्य है।

 

वहीं धर्म की दृष्टि से पुरुषोत्तम माह में यज्ञ का विशेष महत्व भी होता है। इस दौरान यज्ञ समिति अध्यक्ष मुकेश मालू, महामंत्री अजीत सिंह , चन्द्रभान गोयल, मोतीलाल मीणा, प्रदीप सैन आदि ने व्यवस्था सम्भाली। महायज्ञ की पूर्णाहुति 20 मई को होगी। इस मौके पर प्रसादी कार्यक्रम भी होगा।

 

 

यज्ञशाला पूर्ण
मालपुरा. शतचण्डी महायज्ञ समिति व बारादरी रामचरित मानस मण्डल के तत्वावधान में बारादरी बालाजी मन्दिर में 18 से 26 मई तक होने वाले शतचण्डी महायज्ञ को लेकर शुक्रवार को कलश यात्रा निकाली जाएगी तथा कथावाचक श्रीरामकृष्ण पाठक अयोध्या द्वारा कथा का वाचन किया जाएगा।

 


समिति संयोजक दिनेश विजय ने बताया कि शुक्रवार को बाबा बालकदास त्यागी उत्तरप्रदेश के सान्निध्य में नवीन मण्डी स्थित केदारनाथ से सुबह 8 बजे भव्य कलश यात्रा के साथ शतचण्डी महायज्ञ का शुरू होगा। प्रतिदिन यज्ञाचार्य सन्तोष शास्त्री वाराणसी के द्वारा मंत्रोच्चारण के साथ यज्ञ में आहुतियां दी जाएगी। रामकथा प्रतिदिन सुबह 8 से 11 बजे तक तथा दोपहर में 3 से 6 बजे तक आयोजित की जाएगी।

 


नानी बाई को मायरों कार्यक्रम की तैयारियां:

राजमहल . कस्बे के आलकेश्वर महादेव मंदिर परिसर में शनिवार से नानी बाई रो मायरों कार्यक्रम का आयोजन होगा। गिरिराज मित्र मण्डल की ओर से आयोजित कार्यक्रम की तैयारियां की जा रही है। मध्यप्रदेश की संत वंदना शर्मा नानी बाई को मायरों कथा का वाचन करेंगी।

डाउनलोड करें पत्रिका मोबाइल Android App: https://goo.gl/jVBuzO | iOS App : https://goo.gl/Fh6jyB

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

Ad Block is Banned