नि:शुल्क दवा योजना की खुली पोल, निरीक्षण में 46 प्रकार की दवाइंया पाई कम

नि:शुल्क दवा योजना की खुली पोल, निरीक्षण में 46 प्रकार की दवाइंया पाई कम

 

By: pawan sharma

Published: 19 Sep 2020, 08:15 PM IST

निवाई. जिला कलक्टर के निर्देश पर शनिवार को उपखंड अधिकारी रूबी अंसार ने राजकीय सामुदायिक चिकित्सालय का निरीक्षण किया। उपखंड अधिकारी रूबी ने चिकित्सालय में राज्य सरकार द्वारा मुख्यमंत्री दवा योजना के तहत रोगियों को मुफ्त मिलने वाली दवाइयों के बारे सम्पूर्ण जानकारी ली। राज्य सरकार द्वारा 465 दवाइयों मे से 46 दवाइयां चिकित्सालय में नहीं होने पर नाराजगी जाहिर की।

इस पर चिकित्सा अधिकारी डॉ.केके.विजय ने बताया कि 46 दवाइयों के लिए जिला मुख्यालय को सूचित कर दिया और एनओसी ले ली और बाजार से दो दिन में क्रय कर ली जाएगी। उपखंड अधिकारी ने मुख्यमंत्री नि:शुल्क जांच केन्द्र का निरीक्षण कर एक पखवाड़े की रिपोर्ट की जानकारी ली। इस दौरान चिकित्सा प्रभारी ने बताया कि पिछले 15 दिन में चिकित्सालय में आने वाले 1196 रोगियों की 37 प्रकार की 4192 जांचें की गई। उपखंड अधिकारी ने विभिन्न स्थानों का अवलोकन कर चिकित्सालय में सफ ाई व्यवस्था सही रखने के निर्देश दिए।

मरीजों को भर्ती करना किया बंद
पीपलू(रा.क.). पीपलू के सामुदायिक अस्पताल के प्रभारी व स्टॉफ के कोरोना संक्रमित मिलने तथा इससे पहले यहां के मेडिकल वार्ड में ईलाज को लेकर भर्ती हुए मरीजों के कोरोना संक्रमित मिलने के बाद वार्ड में मरीजों को भर्ती करना बंद किया हैं। वहीं अस्पताल में चिकित्सक रोगियों को परामर्श देते हुए दवाईयां लिख रहे हैं।

सांसद कार्यालय का कार्मिक भी पॉजिटिवउनियारा. कस्बे में शुक्रवार को भी एक ओर व्यक्ति कोरोना संक्रमित होने की जानकारी मिली है। ब्लॉक मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॅ.ा रविन्द्र खीचीं ने बताया कि कस्बे के वार्ड नम्बर 7 का एक व्यक्ति कोरोना पॉजिटिव आया है। उक्त व्यक्ति टोंक में सांसद कार्यालय में कार्यरत है, जिसने गत दिनों टोंक जिला मुख्यालय पर अपनी कोरोना जांच करवाई थी। जिसकी रिपोर्ट पॉजेटिव प्राप्त हुई है।

pawan sharma
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned