हत्या की जांच पर संदेह, एसपी व जांच अधिकारी के निलम्बन की मांग

पूर्व सैनिक कलक्ट्रेट पहुंचा परिवार के साथ
टोंक. गत दिनों निवाई सदर थाना क्षेत्र के चतुर्भुजपुरा गांव में महिला की हुई मौत के मामले में चल रही जांच में संदेह जताकर मृतका के पिता व पूर्व सैनिक परिवार के साथ कलक्टे्रट पहुंचे और मुख्यमंत्री के नाम जिला कलक्टर को ज्ञापन सौंपकर पुलिस अधीक्षक तथा जांच अधिकारी को निलम्बित करने की मांग की।

By: jalaluddin khan

Published: 01 Oct 2020, 07:35 PM IST

हत्या की जांच पर संदेह, एसपी व जांच अधिकारी के निलम्बन की मांग
पूर्व सैनिक कलक्ट्रेट पहुंचा परिवार के साथ
टोंक. गत दिनों निवाई सदर थाना क्षेत्र के चतुर्भुजपुरा गांव में महिला की हुई मौत के मामले में चल रही जांच में संदेह जताकर मृतका के पिता व पूर्व सैनिक परिवार के साथ कलक्टे्रट पहुंचे और मुख्यमंत्री के नाम जिला कलक्टर को ज्ञापन सौंपकर पुलिस अधीक्षक तथा जांच अधिकारी को निलम्बित करने की मांग की।

साथ ही मामले से जुड़े सभी आरोपियों को गिरफ्तार करने की मांग की। टोडारायसिंह के बासेड़ा निवासी पूर्व सैनिक किशनलाल जाट ने ज्ञापन में बताया कि उसकी पुत्री रचना चौधरी की पहली शादी सैनिक से हुई थी।

जब वीरांगना हो गई तो उसका विवाह 16 जून 2016 को करेड़ा तहसील चाकसू हाल चतुर्भुजपुरा निवाई निवासी प्रहलाद के साथ कर दिया गया।

प्रहलाद पुलिस में कांस्टेबल है। उसके पिता हजारीराम पुलिस में एएसआई है। उनका आरोप है कि गत 18 अगस्त को उसकी पुत्री की हत्या कर दी गई।

ससुराल पक्ष के लोगों ने उसे आत्महत्या का रूप दे दिया, लेकिन किशनलाल ने पुत्री के सुसराल पक्ष के लोगों के खिलाफ हत्या का मामला निवाई थाने में गत 19 अगस्त को ही करा दिया।

उसकी पुत्री के ससुराल पक्ष के लोग दहेज की मांग कर रहे थे। आरोप लगाया कि ससुराल पक्ष के लोगों ने ही उसकी पुत्री की हत्या की और आत्महत्या का रूप दे दिया। किशनलाल ने आरोप लगाया कि जांच अधिकारी व पुलिस उपाधीक्षक अशोक बुटोलिया से मामले में कार्रवाई करने के लिए कहा तो उन्होंने दो लाख रुपए मांग रख दी।

साथ ही मामले को रफादफा करने को कहा। इसकी शिकायत पुलिस अधीक्षक से की तो उन्होंने भी कोई सुनवाई नहीं की। उन्होंने बताया कि मृतका के ससुर व पति पुलिस में होने पर कार्रवाई नहीं हो रही है।

ऐसे में उन्होंने जांच अधिकारी व पुलिस अधीक्षक को निलम्बित करने तथा आरोपियों को गिरफ्तार करने की मांग की है।

झूठे आरोप लगा रहे हैं
मृतका के मामले की जांच पहले मैं कर रहा था, लेकिन आइजी के निर्देश पर जांच अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक को दे दी गई। मैंने किसी पर कोई दबाव नहीं डाला वे लोग झूठे आरोप लगा रहे हैं।
- अशोक बुटोलिया, पुलिस उपाधीक्षक

jalaluddin khan Reporting
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned