लम्बित चल रही है मांगों के समाधान के लिए शिक्षकों ने सीएम को भेजा ज्ञापन

लम्बित चल रही है मांगों के समाधान के लिए शिक्षकों ने सीएम को भेजा ज्ञापन

By: pawan sharma

Updated: 16 Sep 2020, 05:39 PM IST

टोंक. शिक्षकों की लम्बित मांगों को लेकर राजस्थान शिक्षक संघ राष्ट्रीय जिला टोंक की ओर से मुख्यमंत्री के नाम जिला कलक्टर को ज्ञापन सौंपा गया। इसमें जिलाध्यक्ष मोहरसिंह गुर्जर, शिवजीलाल कीर, संगठन मंत्री दिनेश कुर्मी, अरविंद टाक, जितेन्द्र गुर्जर, रामदयाल, राजेन्द्रसिंह आदि ने बताया कि शिक्षकों की मांगे लम्बित चल रही है।

ऐसे में तृतीय श्रेणी शिक्षक भर्ती 2013, 2016 व 2018 में नियुक्त शिक्षकों के 2 वर्ष की नियमित व संतोषपद्र सेवा पूर्ण होने पर स्थायीकरण करने, 2018 में नियुक्त प्रयोगशाला सहायकों का स्थायीकरण, 2012-13 में नियुक्त अध्यापकों व प्रबोधकों का नोशनल परिलाभ प्रकरण का निस्तारण, कोविड-19 में उपार्जित अवकाश, दूनी प्रधानाचार्य भंवरलाल की ड्यटी निरस्त करने समेत अन्य मांगों का निस्तारण करने की मांग की है।

समस्याओं का किया जाए निस्तारण

टोंक. विभिन्न समस्याओं के निस्तारण की मांग को लेकर राजस्थान प्राथमिक एवं माध्यमिक शिक्षक संघ ने मुख्य कार्यकारी अधिकारी को ज्ञापन सौंपा। इसमें शिक्षक भर्ती 2012, 2013, 2016 व 2018 में नियुक्त शिक्षकों को स्थायी करने, दो वर्ष का परीविक्षा काल पूर्ण करने वाले शिक्षकों को नियमानुसार वेतन आदि की मांग की गई। ज्ञापन देने वालों में जिलाध्यक्ष हंसराज मीना, जिला मंत्री अख्तर हुसैन, परसुराम जाट, शिवराज यादव, विक्रम सिंह, यूसुफ नकवी, महावीर कुर्मी, रेखा कोठारी, विष्णुदयाल सैनी, महावीरप्रसाद, इमरान, भंवरलाल आदि शामिल थे।

ग्रामीणों ने कलक्टर को दिया ज्ञापन
ग्राम पंचायत सींदरा के गांव मंडालिया में बीसलपुर विस्थापितों के लिए आरक्षित भूमि व चरागाह पर हो रहे अतिक्रमण को तत्काल हटाने की मांग को लेकर ग्रामीणों ने जिला कलक्टर गौरव अग्रवाल को ज्ञापन सौंपा। ज्ञापन से कलक्टर को अवगत कराया कि तहसीलदार प्रांजल कंवर के आदेश पर गठित कमेटी द्वारा अभी तक कार्रवाई नहीं करने से ग्रामीणों में आक्रोश बढ़ता जा रहा है।

शंकर, रामभजन, मदन, बाबू, किशन, मोरपाल, दयाराम, देवनारायण, रामराय, सीताराम, केदार, दामोदर, शिवदयाल सहित कई ग्रामीणों ने बताया कि चरागाह भूमि व बीसलपुर आरक्षित भूमि पर लोगों ने अवैध अतिक्रमण कर लिया है, जबकि गांव मंडालिया में आज तक किसी भी बीसलपुर विस्थापित को भूमि आवंटित नहीं की गई है।


ग्रामीणों ने जिला कलक्टर को यह भी बताया कि अतिक्रमण हटाने के लिए तहसीलदार ने 21 अगस्त को सर्वे टीम गठित कर 25 अगस्त तक अतिक्रमण हटाने के निर्देश दिए थे, लेकिन गठित टीम ने तहसीलदार के आदेशों की कोई पालना नहीं की। इसके बाद तहसीलदार ने पुन: 2 सिंतबर को अतिक्रमण हटाने के दुबारा टीम गठित कर तत्काल अतिक्रमण हटाने के निर्देश दिए थे, लेकिन आज तक अतिक्रमण नहीं हटाए गए हैं, जिससे ग्रामीणों में रोष व्याप्त है।

pawan sharma
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned