scriptThanks Tonk Police: The girl who reached 71 km away from the house was | धन्यवाद टोंक पुलिस: घर से 71 किलोमीटर दूर पहुंची युवती को सुरक्षित पहुंचाया | Patrika News

धन्यवाद टोंक पुलिस: घर से 71 किलोमीटर दूर पहुंची युवती को सुरक्षित पहुंचाया

दिमागी रूप से है कमजोर

कोतवाली पुलिस कर रही थी गश्त

टोंक. कोतवाली थाना पुलिस ने देर रात सड़क पर घूम रही दिमागी रूप से कमजोर एक युवती को सुरक्षित अपने परिजनों तक पहुंचाया है। यह युवती अपने घर से 71 किलोमीटर दूर टोंक पहुंच गई। गनीमयत यह थी कि कोतवाली थाना प्रभारी जितेन्द्रसिंह चारण पुलिस जाप्ते के साथ गश्त कर रहे थे।

टोंक

Published: January 18, 2022 08:52:52 pm

धन्यवाद टोंक पुलिस: घर से 71 किलोमीटर दूर पहुंची युवती को सुरक्षित पहुंचाया

दिमागी रूप से है कमजोर

कोतवाली पुलिस कर रही थी गश्त

टोंक. कोतवाली थाना पुलिस ने देर रात सड़क पर घूम रही दिमागी रूप से कमजोर एक युवती को सुरक्षित अपने परिजनों तक पहुंचाया है। यह युवती अपने घर से 71 किलोमीटर दूर टोंक पहुंच गई। गनीमयत यह थी कि कोतवाली थाना प्रभारी जितेन्द्रसिंह चारण पुलिस जाप्ते के साथ गश्त कर रहे थे।
धन्यवाद टोंक पुलिस: घर से 71 किलोमीटर दूर पहुंची युवती को सुरक्षित पहुंचाया
धन्यवाद टोंक पुलिस: घर से 71 किलोमीटर दूर पहुंची युवती को सुरक्षित पहुंचाया
उन्हें रविवार देर रात एक युवती कालीपलटन इलाके में नंगे पैर घूमती मिली। पहले तो उसे आस-पास की माना, लेकिन उसके पैर में चप्पल नहीं होने और संदिग्ध लगने पर पूछताछ की। वह कोई जवाब नहीं दे पाई। ऐसे में पुलिस उसे कोतवाली थाने ले आई। जहां उससे बात करने की कोशिश की, लेकिन वह दिमागी रूप से कमजोर होने पर बताने में असमर्थ रही।

बहरहाल पुलिस ने काफी प्रयास और उसे विश्वास में लेकर नाम पूछा तो उसने स्वयं को दिल्ली की बताया, लेकिन उसकी भाषा को लेकर पुलिस को कुछ संदेह हुआ। ऐसे में फिर से प्रयास किया गया तो पता चला कि वह भीलवाड़ा जिले के जहाजपुर थाना क्षेत्र के एक गांव की निकली। ऐसे में कोतवाली थाना प्रभारी जितेन्द्रसिंह ने जहाजपुर थाना प्रभारी इमरान को युवती के बारे में बताया और उसके गांव में तस्दीक करने को कहा।

इस पर जहाजपुर थाना प्रभारी इमरान ने युवती के गांव में पूछताछ की तो उसके भाई ने बताया कि वह सुबह से ही लापता है। ऐसे में कोतवाली थाना पुलिस ने युवती को जनाना अस्पताल स्थित सखी वनी स्टॉफ सेंटर में छोड़ दिया। जहां सोमवार सुबह उसका भाई और अपनी बहन को ले गया। साथ ही उसने कोतवाली थाना पुलिस को इसेक लिए धन्यवाद भी दिया।
दूसरी तरफ कोतवाली थाना पुलिस की तारीफे काबिल बात यह भी है कि शहर में कई घटनाएं कई हो चुकी है। कुछ दिनों पहले ही सदर थाना पुलिस को बमोर रोड पर हाइवे से कुछ दूरी पर एक महिला का शव बोरे में बंद मिला है। उसकी अभी तक शिनाख्त नहीं हो पाई है। ऐसे में टोंक में भी ऐसा घटना हो सकती थी, जो पुलिस की सजगता से बच गई। दरअसल युवती दिमागी रूप से कमजोर होने पर स्वयं के बारे में नहीं बता पा रही थी तो कई तरह की सम्भावनाएं बनती है।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

बड़ी खबरें

सीएम Yogi का बड़ा ऐलान, हर परिवार के एक सदस्य को मिलेगी सरकारी नौकरीचंडीमंदिर वेस्टर्न कमांड लाए गए श्योक नदी हादसे में बचे 19 सैनिकआय से अधिक संपत्ति मामले में हरियाणा के पूर्व CM ओमप्रकाश चौटाला को 4 साल की जेल, 50 लाख रुपए जुर्माना31 मई को सत्ता के 8 साल पूरा होने पर पीएम मोदी शिमला में करेंगे रोड शो, किसानों को करेंगे संबोधितराहुल गांधी ने बीजेपी पर साधा निशाना, कहा - 'नेहरू ने लोकतंत्र की जड़ों को किया मजबूत, 8 वर्षों में भाजपा ने किया कमजोर'Renault Kiger: फैमिली के लिए बेस्ट है ये किफायती सब-कॉम्पैक्ट SUV, कम दाम में बेहतर सेफ़्टी और महज 40 पैसे/Km का मेंटनेंस खर्चIPL 2022, RR vs RCB Qualifier 2: राजस्थान ने बैंगलोर को 7 विकेट से हराया, दूसरी बार IPL फाइनल में बनाई जगहपूर्व विधायक पीसी जार्ज को बड़ी राहत, हेट स्पीच के मामले में केरल हाईकोर्ट ने इस शर्त पर दी जमानत
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.