डीबीटी योजना के तहत गैस सब्सिडी की तरह किसानों के खातों में आएगी छूट की राशी

डीबीटी योजना के तहत गैस सब्सिडी की तरह किसानों के खातों में आएगी छूट की राशी

 

By: pawan sharma

Published: 18 Oct 2020, 02:40 PM IST

टोंक. कृषि विद्युत बिलों पर मिलने वाली छूट अब सीधे डीबीटी योजना के तहत गैस सब्सिडी की तरह किसानों के खातों में आएगी। इसके लिए सरकार ने योजना के प्रथम चरण के लिए प्रदेश में जयपुर डिस्कॉम के तहत आने वाले 12 जिलों में से टोंक जिले का चयन किया है।


जयपुर विद्युत वितरण निगम लिमिटेड टोंक के सहायक अभियंता आरडी मीणा ने बताया कि कृषि बिलों दी जा रही छूट की राशि अब सीधे ही किसानों के खाते में आएगी। इसके लिए जिस नाम से कृषि कनेक्शन जारी है उसके आधार कार्ड व बैंक खाता नम्बर की फोटो प्रति विभाग में जमा करवानी होगी, जिससे बैक खाते में दी जाने वाली छूट की राशि की प्रक्रिया पूरी की जा सके।

निगम की ओर से घर-घर जाकर किसानों को योजना की जानकारी देकर आवश्यक दस्तावेज सम्बधित अभियंताओं के कार्यालयों में शीघ्र जमा कराए जाने के लिए कहा जा रहा है, जिससे आने वाले आगामी माह से छूट की राशि अपने बैंक खातों में जमा हो सके।


अब तक जमा कराए दस्तावेज
डीबीटी योजना के तहत बैंक खाते में आने वाली सब्सिडी के लिए अब तक जिले के 11570 किसानों ने अपने आधार व बैंक पास बुक भी फोटों सम्बधित निगम के कार्यालय पर जमा करवा दी है। जिनमें से अब तक सर्वाधिक निवाई द्वितीय में 2330 व सबसे कम टोंक प्रथम के146 किसानों ने दस्तावेज सम्बधित सहायक अभियंता कार्यालय में जमा करा दिए है। इसी प्रकार टोंक द्वितीय में 1535, उनियारा में 2175, पीपलू में 834, निवाई प्रथम में 1339, डिग्गी में 353, देवली में 581, टोडारायसिंह में 336 व दूनी उपखण्ड पर 1321 किसानों ने अपने अधीन आने वाले सहायक अभियंता कार्यालय में अपने दस्तावेज जमा करवा दिए है।


अभी यह है व्यवस्था

मीना ने बताया कि निगम की ओर जारी कृषि बिजली बिलों की मूल राशि में से छूट की राशि कम कर बिल जारी किए जा रहे है। इसके बाद जो राशि बनती है उसको ही जमा किया जा रहा है, लेकिन जल्द ही डीबीटी योजना के तहत किसानों को बिल में अंकित पूरी राशि का भुगतान करना होगा।

अब ऐसे मिलेगी सब्सिडी

शहरी व ग्रामीण क्षेत्र में बिजली के उपभोग की प्रति यूनिट की अलग-अलग दर है, जिसमें ग्रामीण क्षेत्र में 5 रुपए 55 पैसे प्रति यूनिट की दर निर्धारित है। इसमें सरकार की ओर से 4 रुपए 65 पैसे प्रति यूनिट की दर से किसान को कृषि कनेक्शन पर सब्सिडी मिलती है। इस प्रकार 90 पैसे प्रति यूनिट के हिसाब से कुल उपभोग का भुगतान करना पड़ेगा।

इसी प्रकार शहरी क्षेत्र के लिए प्रति यूनिट 7 रुपए 10 पैसे प्रति यूनिट की दर से बिजली के उपभोग की राशि वसूली जाती है, जिसमें 4 रुपए 65 पैसे प्रति यूनिट की दर के हिसाब से कृषि कनेक्शन पर सब्सिडी मिलती है। इस प्रकार शहरी क्षेत्र में 2 रुपए 40 पैसे प्रति यूनिट की दर से कुल बिजली उपभोग की राशि जमा करवाना होगी।

19 हजार 652 कृषि कनेक्शन है जिले में
टोंक जिले में 11 सहायक अभियंता कार्यालय के अधिन कुल 19 हजार 652 कृषि कनेक्शन है। इनमें सर्वाधिक 4225 उनियारा व सबसे कम 688 कनेक्शन डिग्गी क्षेत्र में है। इसी प्रकार पीपलू में 1092, निवाई प्रथम में 2552 व निवाई द्वितीय में 3435, मालपुरा में 871, देवली में 762, टोडारासिंह में 760 व दूनी उपखण्ड में 2549 व टोंक प्रथम में 781 व टोंक द्वितीय में 1962 कुल कृषि कनेक्शन जारी किए हुए है।

pawan sharma
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned