चिकित्सा व्यवस्था एक कम्पाउण्डर (नर्स-द्वितीय) के भरोसे संचालित

चिकित्सा व्यवस्था एक कम्पाउण्डर (नर्स-द्वितीय) के भरोसे संचालित है। जिससे क्षेत्रवासियों को चिकित्सा सुविधाओं का लाभ नहीं मिल पा रहा है।

By: MOHAN LAL KUMAWAT

Published: 01 Jul 2019, 01:09 PM IST

टोडारायसिंह. चिकित्सा विभाग medical department की अनदेखी के बीच राजकीय प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र Health Center गणेती (पीएचसी) की चिकित्सा व्यवस्था एक कम्पाउण्डर compounder (नर्स-द्वितीय) के भरोसे संचालित है।

read more : सूने मकान के ताले तोडक़र जेवरात एवं नकदी पार

जिससे क्षेत्रवासियों को चिकित्सा सुविधाओं का लाभ नहीं मिल पा रहा है। उल्लेखनीय है कि गणेती क्षेत्र में चिकित्सा सुविधा उपलब्ध कराने को लेकर संचालित उपस्वास्थ्य केन्द्र Sub-health centerको गत 2012में प्राथमिक चिकित्सा केन्द्र में क्रमोन्नत किया गया।

 

लाखों रुपये खर्च कर नया भवन व चिकित्सा सुविधा उपलब्ध कराई गई। लेकिन विभागीय अनदेखी के बीच कार्मिकों की नियुक्ति नहीं होने से लोगों को सुविधा का लाभ नहीं मिल पाया। प्रारम्भ में विभाग ने उक्त पीएचसी को पीपीपी मोड पर संचालन किया लेकिन उक्त व्यवस्था 10 माह ही संचालित हो पाई।

read more : चतुर्भुज तालाब : नगर परिषद की 6 करोड़ की निविदा पर बजट का रोड़ा

 

तब से गणेती पीएचसी की चिकित्सा व्यवस्था चरमराई Systematization हुई है। विभागीय सूत्रों ने बताया कि विभाग के चिकित्सक समेत 14 पद सृजित होने के बावजूद वर्तमान में चिकित्सा व्यवस्था एक नर्स-द्वितीय पर नियुक्त मुकेश गंगवाल के भरोसे है।

 

लाखों रुपये खर्च होने के बावजूद गणेती समेत आसपास के लोगो को चिकित्सा व्यवस्था का लाभ नहीं मिल पा रहा है। स्थिति यह है कि विभाग के तहत संचालित परिवार कल्याण Family Welfare कार्यक्रम टीकाकरण समेत अन्य योजनाओं से क्षेत्रवासी महरूम है।

 

read more : video: भगवान जगन्नाथ स्वामी निकाली शोभायात्रा, बैण्ड-बाजों के साथ को कराया नगर भ्रमण
ये है स्वीकृत पद
विभागीय सुत्रों ने बताया कि विभाग ने पीएचसी गणेती में चिकित्सक, नर्स-प्रथम, एलएचवी, लैब टेक्निशियन, फार्माशिष्ट, कम्प्यूटर ऑपरेटर, आशा सुपरवाइजर, स्वीपर के एक-एक तथा नर्स-द्वितीय, एएनएम व वार्ड बॉय के दो-दो पद सृजित है।

 

जबकि विभागीय अनदेखी के बीच नर्स-प्रथम व लेब टेक्निशियन तथा नर्स-द्वितीय के दो पदो समेत चार पदों को छोड़ अन्य पद रिक्त चल रहे है।

 

श्रम वहां, पारिश्रमिक यहां
ग्रामीणों का आरोप है कि उच्च अधिकारी पीएचसी गणेती में सृजित रिक्त पदों पर चिकित्सक समेत अन्य कार्मिकों की नियुक्ति करना तो दूर, कार्यरत कार्मिकों को भी अन्य चिकित्सालयों में प्रतिनियुक्ति पर लगा रखा है, जबकि उनका वेतन स्थानीय पीएचसी से उठाया जा रहा है।

read more : बाल विवाह : बालिकाओं ने सुनाई संघर्ष की दास्तां

 

उन्होंने बताया कि गणेती पीएचसी में कार्यरत नर्स-प्रथम मोजी राम मीणा को लवादरा टोंक में तथा नर्स-द्वितीय श्योजीराम खटीक को बरवास पीएचसी में प्रतिनियुक्ति पर लगा रखा है।

 

जिससे चिकित्सा व्यवस्था प्रभावित है। इधर, गणेती पीएचसी में नर्स द्वितीय पद कार्यरत मुकेश गंगवाल ने बताया चिकित्सक समेत अन्य कार्मिकों के पद रिक्त है, रिक्त पदों के लिए उच्च अधिकारियों को अवगत कराया गया है। पदों पर नियुक्ति के बाद सुधार होगा।

 

 

Show More
MOHAN LAL KUMAWAT
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned