सरपंच खर्च कर पाएंगे 50 हजार

पहले चरण में तीन पंचायत समिति क्षेत्र की ग्राम पंचायतों में होंगे चुनाव
पहले चरण का मतदान 17 को
9 दिन कर पाएंगे चुनाव का प्रचार
टोंक. पंचायतराज के तहत टोंक जिले में तीन चरणों में होने वाले ग्राम पंचायतों की तैयारियां जारी है। वहीं भावी प्रत्याशियों ने भी अभी से ही प्रचार-प्रसार शुरू कर दिया है। ग्रामीण क्षेत्रों में बेनर-पोस्टर अभी से ही लगने शुरू हो गए हैं। सोशल मीडिया पर भी गांव में कराए जाने वाले विकास के वादे किए जा रहे हैं।

By: Vijay

Published: 03 Jan 2020, 11:56 AM IST


पंच व सरपंच को लेकर दौड़ शुरू हो गई है। हालांकि निर्वाचन आयोग ने अभी तक पंचायत समिति तथा जिला परिषद सदस्य के चुनाव की लोकसूचना जारी नहीं की है, लेकिन ग्राम पंचायतों के चुनाव का कार्यक्रम घोषित हो चुका है। इसमें पहले चरण में टोंक, निवाईतथा पीपलू पंचायत समिति की ग्राम पंचायतों के चुनाव होंगे। सरपंच व वार्डपंच को चुनाव प्रचार करने के लिए ९ दिन का समय मिलेगा। वहीं सरपंच प्रत्याशी के लिए चुनाव खर्चभी २० हजार रुपए से बढ़ाकर ५० हजार रुपए कर दिया गया है। पहले चरण में शामिल तीनों पंचायत समिति क्षेत्र में लोकसूचना ७ जनवरी को जारी की जाएगी। इसके तहत ८ जनवरी को नाम निर्देशन पत्र प्रस्तुत करना, ९ जनवरी को संविक्षा जांच, नामवापसी, चुनाव चिह्न का आवंटन किया जाएगा। प्रशिक्षण के बाद मतदान दल १६ जनवरी को रवाना होंगे। मतदान १७ जनवरी सुबह ८ से शाम ५ बजे तक होगा। मतदान के बाद ग्राम पंचायत मुख्यालय पर मतगणना होगी। उपसरपंच का चुनाव १८ जनवरी को होगा। ऐसे में सरपंच व वार्डपंच प्रत्याशी को प्रचार का समय मिल जाएगा।
दूसरे चरण की लोकसूचना ११ जनवरी को जारी की जाएगी। इसमें १३ जनवरी को नाम निर्देशन पत्र प्रस्तुत करना, १४ जनवरी को नामवापसी, चुनाव चिह्न का आवंटन होगा। मतदान दल २१ जनवरी को रवाना होंगे। मतदान २२ जनवरी सुबह ८ से शाम ५ बजे तक होंगे। इसके बाद पंचायत मुख्यालय पर मतगणना होगी। उपसरपंच का चुनाव २३ जनवरी को होगा। इसी प्रकार तीसरे चरण की लोक सूचना १८ जनवरी को जारी की जाएगी। इसमें २० जनवरी को नाम नाम निर्देशन पत्र प्रस्तुत करना, २१ जनवरी को संविक्षा, नाम पत्र वापसी, चुनाव चिह्न का आवंटन किया जाएगा। मतदान दल २८ जनवरी को मतदान दल रवाना होंगे। मतदान २९ जनवरी सुबह ८ से शाम ५ तक होंगे। इसके बाद मतगणना होगी। उप सरपंच का चुनाव ३० जनवरी को होगा।

६ ग्राम पंचायत व एक पंचायत समिति बढ़ी है इस बार
जिले में इस बार ६ नईग्राम पंचायतों का गठन किया गया है। वहीं पीपलू को नईपंचायत समिति का दर्जादिया गया है। वर्ष२०१४ के हुए चुनाव में जिले में २३० ग्राम पंचायतें थी। जो इस बार बढक़र २३६ हो गईहै। जिले की इन ग्राम पंचायतों में २४४४ वार्ड हैं। टोंक पंचायत समिति क्षेत्र में २५ ग्राम पंचायत, २६३ वार्ड, निवाईमें ४१ ग्राम पंचायत, ४२९ वार्ड, पीपलू में २५ ग्राम पंचायत व २५९ वार्डहैं। दूसरे चरण के चुनाव में शामिल उनियारा पंचायत समिति क्षेत्र में ३६ ग्राम पंचायत, ३२६ वार्ड, देवली में ४० ग्राम पंचायत व ४१० वार्ड है। तीसरे चरण के चुनाव में मालपुरा पंचायत समिति क्षेत्र में ३८ ग्राम पंचायत, ४४६ वार्डतथा टोडारायसिंह में ३१ ग्राम पंचायत तथा ३११ वार्ड है। राज्य निर्वाचन आयोग ने इस बार सरपंच पद के लिए शैक्षणिक योग्यता हटा दी है। वर्ष२०१४ चुनाव में शैक्षणिक योग्यता अनिवार्य थी। आयोग ने वर्ष२०२० में होने वाले पंचायत राज के सरपंच चुनाव में इस शैक्षणिक योग्यता को खत्म कर दिया है। ऐसे में अब असाक्षर भी चुनाव लड़ सकता है।

Vijay Bureau Incharge
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned