दूसरे दिन भी जारी रहा मनरेगा कार्मिकों का धरना , सीएम के नाम कलक्टर को सौंपा ज्ञापन

नियमित समेत विभिन्न मांगों को लेकर महानरेगा संविदा कार्मिक संघ का धरना देसरे दिन भी जारी रहा।

 

टोंक. नियमित समेत विभिन्न मांगों को लेकर महानरेगा संविदा कार्मिक संघ का धरना मंगलवार को भी जारी रहा। ये धरना मंगलवार को प्रदेश स्तरीय हो गया। इसमें प्रदेशभर से संघ के पदाधिकारी व कार्यकर्ता शामिल हुए। धरना घंटाघर के स्थान पर रामलीला मैदान में शुरू किया गया। धरने पर बैठे पदाधिकारियों व कार्यकर्ताओं ने मुख्यमंत्री के नाम जिला कलक्टर को ज्ञापन सौंपकर मांगों का निस्तारण जल्द करने की मांग की।

साथ ही कहा कि धरना तब तक जारी रहेगा, जब तक उनकी मांगों का निस्तारण नहीं हो जाता। संघ के जिलाध्यक्ष इमरान खान, महासचिव आदर्श जैन तथा महामंत्री महावीर बाहेती ने बताया कि वर्ष2013 में निकाली गईकनिष्ठ लिपिक की भर्ती में ग्रामीण विकास एवं पंचायतराज विभाग में संविदा के आधार पर कार्यकर रहे कार्मिकों को बोनस अंक देने का प्रावधान किया था, लेकिन इस की प्रक्रिया बाद में रोक दी गई।

इसे प्रक्रिया को राज्य सरकार की ओर से रोक हटने के बाद भी शुरू नहीं किया गया। ऐसे में धरना देकर सरकार के सामने मांग रखी गई। धरने को प्रदेशाध्यक्ष अशोककुमार वैष्णव, पाली जिलाध्यक्ष मोहम्मद असलम, सवाईमाधोपुर जिलाध्यक्ष ज्ञानचंद, बूंदी जिलाध्यक्ष सुधाकर जैन तथा कोटा जिलाध्यक्ष संतोषकुमार ने सम्बोधित किया।

इस दौरान इमरान खान, सेवाराम, रमेश गुर्जर, सत्यनारायण, भरत चौधरी, राधेश्याम, लालचंद, गजानंद, बद्रीलाल, संजय, गिरधर गोपाल, बारां, भंवरसिंह, सुरेशचंद, नरेश खटीक अनशन पर बैठे।

मुख्यमंत्री को भेजा ज्ञापन
टोंक. विभिन्न मांगों को लेकर राजस्थान विकलांग मंच इकाईटोंक से जुड़े सदस्यों ने मुख्यमंत्री के नाम जिला कलक्टर को ज्ञापन सौंपा। इसमें जिलाध्यक्ष गोवर्धन जाट ने बताया कि दिव्यांगजनों को मिलने वाली पेंशन बढ़ाने, जयपुर में धरने के दौरान दर्जकिए गए मामलों को वापस लेने, दिव्यांगों का आरक्षण बढ़ाकर 10 प्रतिशत करने, बैकलॉग पदों को चिह्नितकर कर विशेष भर्ती अभियान चलाने समेत 11 सूत्रीय मांगों का निस्तारण करने की मांग की। ज्ञापन देने वालों में राजेश दाधीच, हरिनारायण गुर्जर, दामोदर जाट, मोहम्मद शौकीन, हेमराज, विनोद आदि शामिल थे।

Show More
pawan sharma
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned