देशी कट्टा दिखाने के मामले में फरार तीसरे आरोपी को भी किया गिरफ्तार

देशी कट्टा दिखाने के मामले में फरार तीसरे आरोपी को भी किया गिरफ्तार

 

By: pawan sharma

Published: 02 Sep 2020, 08:20 PM IST

निवाई. झिलाय गांव में रविवार को मामूली विवाद में देशी कट्टा दिखाने के मामले में पुलिस ने एक और आरोपी को गिरफ्तार किया है। पुलिस उपाधीक्षक बृजेन्द्रसिंह भाटी ने बताया कि रविवार दोपहर झिलाय पेट्रोल पंप पर एक मोटरसाइकिल पर सवार तीन जनों ने मामूली विवाद में विक्की नायक पर देशी कट्ट तान दिया था, जिसके बाद लोगों ने पीछा कर तीनों को पकड़ लिया था, लेकिन एक आरोपी ग्रामीणों के चंगुल से भाग छूटा था। भाटी ने बताया कि निवाई पुलिस ने फ रार आरोपी चेतराम गुर्जर को दबिश देकर गांव जामडोली से गिरफ्तार किया है। भाटी ने बताया कि पूर्व में सुमित पुत्र राजेंद्र, राजमल पुत्र शिवदयाल को पहले गिरफ्तार किया जा चुका है।


पुलिस अधिकारियों के नाम से रुपए लेने वाला गिरफ्तार
निवाई. लड़ाई-झगड़े के मुकदमें में पुलिस अधिकारियों के नाम से रुपए लेने के आरोप में दत्तवास पुलिस ने एक जने को गिरफ्तार किया है। पुलिस उपाधीक्षक बृजेन्द्रसिंह भाटी ने बताया कि सिरोही निवासी भगवान जाट व कल्याण जाट ने प्रार्थना पत्र देकर अवगत कराया कि कानाराम पुत्र ऊर्जाराम जाट निवासी जमात थाना निवाई मूल निवासी डेगाना नागौर ने दत्तवास थाने में दर्ज मुकदमें में डेढ़ लाख रुपए पुलिस अधिकारियों के नाम से ले लिए है और 40 हजार रुपए और मांग रहा है।

भाटी ने बताया कि दोनों के प्रार्थना पत्र पर दत्तवास पुलिस ने कानाराम जाट के विरुद्ध पुलिस के नाम से झांसा देकर रुपए लेने व डेढ़ लाख रुपए ऐठने पर मुकदमा दर्ज किया गया। पुलिस उपाधीक्षक ने बताया कि मुकदमा दर्ज होने के बाद पुलिस ने उसकी तलाश शुरू की और करीब सात दिन की तलाशी के बाद मंगलवार को जमात स्थित उसके मकान से कानाराम जाट को गिरफ्तार किया है।


भाटी ने बताया कि कानाराम जाट ने मुकदमें 20 हजार रुपए दत्तवास थाने के नाम पर लिए। इसके बाद मार्च माह में तत्कालीन पुलिस उपाधीक्षक अंजुम कायल के नाम 56 हजार रुपए ले लिए और राजकीय अधिवक्ता के नाम से 11 हजार रुपए लिए है। इसी प्रकार पुलिस के उच्चाधिकारियों के नाम से 63 हजार रुपए लिए।

आरोपी 40 हजार रुपए और और मांग रहा था। भाटी ने बताया कि आरोपी अच्छी अंग्रेजी बोलकर व उच्च प्रशासनिक अधिकारियों, पुलिस अधिकारियों से रसूखात के चलते पीडि़त को अपने जाल में फं सा लिया और पुलिस के नाम पर रुपए वसूलता रहा।


बार बार रुपए मांगने से परेशान होकर पीडि़त ने पुलिस उपाधीक्षक कार्यालय में प्रार्थना दिया, जिस पर उसे गिरफ्तार कर लिया है। भाटी ने बताया कि आरोपी अन्य मामलों में पहले भी जेल जा चुका है और उसने पुलिस व प्रशासनिक अधिकारियों के नाम से रुपए लेना स्वीकार किया है।ए.सं.

pawan sharma
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned