रीट परीक्षा: टोंक पुलिस की गंगापुर में कार्रवाई, प्रलोभन देने के मामले में जीजा-साले को पकड़ा

टोंक पुलिस ने रीट पेपर की उत्तर कुंजिका देने के लिए प्रलोभन देने के मामले में जीजा-साले को अलग-अलग स्थान से गिरफ्तार किया है।

By: pawan sharma

Updated: 27 Sep 2021, 08:08 AM IST

टोंक. टोंक पुलिस ने रीट पेपर की उत्तर कुंजिका देने के लिए प्रलोभन देने के मामले में जीजा-साले को अलग-अलग स्थान से गिरफ्तार किया है। पुलिस अधीक्षक ओम प्रकाश ने बताया कि जिले के अरनिया केदार निवासी भवानी सिंह शारीरिक शिक्षक पद पर राजकीय माध्यमिक विद्यालय जटवाली थाना सपोटरा में नियुक्त है।

भवानी सिंह ने कंसुआ जिला कोटा निवासी साले कृष्ण गोपाल को दौसा में रीट पेपर की उत्तर कुंजिका उपलब्ध कराने के बारे में कहा था। प्रारम्भिक तौर पर पांच लाख रुपए में पेपर उपलब्ध करवाए जाने की बात कहे जाने का मामला सामने आया है। वहीं भवानी ने तिलांजू थाना मालपुरा निवासी विनोद को भी पेपर की उत्तर कुंजिका उपलब्ध करवाए जाने के लिए परीक्षार्थियों से बात करने का कहा।

इस पर विनोद ने मामले से जिला पुलिस की डीएसटी टीम को अवगत कराया। कोतवाल द्वारा प्रकरण दर्ज कर डमी परीक्षार्थी की भवानी सिंह से बात होने पर मामले की पुष्टि हुई। इस पर पुलिस अधीक्षक के निर्देशन में उत्तर कुंजिका प्रलोभन देने के आरोप में उद्योग नगर कोटा से कृष्ण गोपाल एवं गंगापुर सिटी से भवानी सिंह को गिरफ्तार किया गया है।मामले की जांच टोंक पुलिस उपाधीक्षक चन्द्र सिंह रावत कर रहे है।

पीपलू में हुआ हंगामा

पीपलू. रीट परीक्षा के लिए राजकीय उच्च माध्यमिक विद्यालय में 400 के विरुद्ध 358, एक निजी मंदिर में 200 के विरुद्ध 183 एवं दूसरे निजी स्कूल में 150 के विरुद्ध 128 उपस्थित रहे। इस तरह कुल 750 में से 81 अनुपस्थित रहे। ग्रामवासियों द्वारा अभ्यर्थियों एवं इनके सहायकों के ठहरने, सोने, खाने, पीने व अल्पाहार, चाय पानी के प्रबन्ध किए गए।

एक परीक्षा सेंटर पर अनियमितता होने संबंधी शिकायत को लेकर कुछ अभ्यर्थियों ने हंगामा किया। इस मामले में कोटपुतली से आए अभ्यर्थी मुकेश गुर्जर व टोंक से आई शकुंतला ने बताया कि पेपर सील फटा हुआ मिला। जिसका उन्होंने एतराज जताया, लेकिन केंद्राधीक्षक व उपखंड अधिकारी को इस आशय की शिकायत बताई। पर उनकी एक नहीं सुनी गई। इसके बाद शिकायतकर्ताओं ने पीपलू उपखंड कार्यालय पहुंच कर बताई। यह रूम नंबर 12 का मामला है। उपखंड अधिकारी पीपलू रवि वर्मा ने इस मामले में किसी प्रकार की अनियमितता नहीं होने की बताई। आरोप बेबुनियाद है।

pawan sharma
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned