एक हजार रुपए के लालच में फंस गया

सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता विभाग के लिपिक को भ्रष्टाचार निरोधक ब्यूरो की टीम ने बुधवार को एक हजार

By: मुकेश शर्मा

Published: 06 Apr 2016, 11:50 PM IST

टोंक।सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता विभाग के लिपिक को भ्रष्टाचार निरोधक ब्यूरो की टीम ने बुधवार को एक हजार रुपए की रिश्वत लेते रंगे हाथों गिरफ्तार कर लिया। आरोपित लिपिक सुभाष बाजार निवासी संदीपकुमार खंगार है। उसने सरदारपुरा निवासी रामअवतार पुत्र रघुनंदन से 'मुख्यमंत्री विशेष योग्यजन योजनाÓ में ऋण दिलाने की एवज में एक हजार रुपए मांगे थे। ब्यूरो के निरीक्षक रामदयाल सिंह ने बताया कि रामअवतार को योजना के तहत ऋण लेकर साइकिल की दुकान लगानी थी। इसके लिए चार महीने पहले सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता विभाग में 50 हजार रुपए के ऋण के लिए आवेदन किया था। ऋण स्वीकृत कराने के लिए लिपिक संदीप कुमार ने उससे 5 हजार रुपए की मांग की। बाद में एक हजार रुपए लेने के बाद ही काम करना तय किया।

इस बीच रामअवतार ने गत 4 अप्रेल को एसीबी टोंक में लिपिक संदीप कुमार के खिलाफ परिवाद पेश कर दिया। ब्यूरो ने मामले की जांच कर बुधवार को 100-100 के दस नोटों पर रंग लगाकर रामअवतार को संदीप के पास भेज दिया। जहां संदीप ने रामअवतार से एक हजार रुपए लेकर पेंट की जेब में रख लिए। कुछ देर बाद ही निरीक्षक रामदयाल के अलावा कांस्टेबल वीरेन्द्र सिंह, मोहम्मद जुनेद, आत्माराम जाट तथा हनुमान शर्मा की टीम ने संदीप को कार्यालय से गिरफ्तार कर लिया।
मुकेश शर्मा Reporting
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned