शहीद के घर में मचा कोहराम, बेटियों की शादी कर जल्द मिलने का किया था वादा, अब आए तिरंगे में लिपट कर

www.patrika.com/rajasthan-news

By: dinesh

Updated: 14 Jul 2018, 03:11 PM IST

टोंक/राजमहल। अमरनाथ यात्रा में भक्तों की सुरक्षा में लगे जवानों पर शुक्रवार सुबह हुए आतंकी हमले में राजस्थान के दो जवानों के शहीद होने के बाद दोनों के पैतृक गांवों में शौक की लहर है। नवाबी नगरी टोंक के राजमहल गांव निवासी 50 वर्षीय जवान मिश्री लाल मीना के सीने व गर्दन पर गोली लगने से शहीद होने की खबर के बाद से पूरा गांव में शोक में डूबा हुआ है। सेना के हैलीकॉप्टर से शहीद की पार्थिव देह टोंक जिले की देवली पहुंची। केन्द्रीय औधोगिक सुरक्षा बल परिसर में हैलीकॉप्टर को उतारा गया। कृषि मंत्री प्रभू लाल सैनी ने शहीद को सलामी दी।

परिजनों का रो-रोकर बुरा हाल
वहीं शहीद के परिवारजनों का भी रो-रोकर बुरा हाल है। सुबह से ग्रामीण और परिवारजन शहीद की पार्थिव देह का बेसब्री से इंतजार करते रहे। वहीं दूसरी ओर शहीद के घर पर लोगों का जमावड़ा लगा हुआ है।

मोक्षधाम पर की गई साफ सफाई और व्यवस्थाएं
सुबह से ही ग्राम पंचायत सरपंच, उपसरपंच, सचिव सहित हल्का पटवारी आदि माताजी रावता गांव के मोक्षधाम पर साफ-सफाई, छाया, पानी आदि की व्यवस्थाएं माकूल करने में जुटे हुए है। मोक्षधाम पर तीन जेसीबी मशीनों की सहायता से रास्तों को दुरूस्त किया जा रहा है। वहीं आस पास के क्षेत्र में उगे बबूलों को हटाया जा रहा है।

बेटियों की शादी के बाद गये थे ड्यूटी पर
शहीद मिश्री लाल मीणा अपने परिवार में पत्नी, एक पुत्र और दो बेटियों के साथ दो भाई छोड़ गए है। शहीद मिश्री लाल मीणा गत फरवरी माह में अपनी दोनों बेटियों की शादी करने के लिए दो माह की छुट्टी लेकर राजमहल गांव आये थे। दोनों बेटियों की शादी कर फिर वापिस कश्मीर ड्यूटी पर गये थे। उन्हें क्या पता था कि वो बेटियों की शादी के बाद उनसे कभी भी नहीं मिल पाएंगे।

 

Tonk Martyr

 

उल्लेखनीय है कि कश्मीर के पहलगांव अनन्तनाग पर सैनिकों के साथ अमरनाथ यात्रिकों की सुरक्षा के लिए निकला एक सैनिक आंतकियों की गोली का शिकार होकर खुद शहीद हो गया। शहीद मिश्री लाल मीणा जम्मू एण्ड कश्मीर की 96 बटालियन सीआरपीएफ सीआरपीएफ में एएसआई के पद पर कार्यरत थे जो 13 जुलाई को रेड अलर्ट दिवस मनाकर दस सैनिकों के साथ अमरनाथ यात्रियों की सुरक्षा के लिये अनन्तनाग के पहलगांव रोड़ स्थित मटन स्थान पर गश्त के लिए निकले थे। तभी अचानक आंतकियों की ओर से की गई फायरिंग में मौके पर ही शहीद हो गये साथ में अलवर जिले के संदीप यादव भी शहीद हो गये वही दो अन्य सैनिक गम्भीर घायल हो गये थे जिनका उपचार जारी है।

Show More

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned