वन विभाग की भूमि से ग्रामीणों ने उखाड़ दिए पेड़-पौधे, अब करेंगे पैमाइश

सोहेला वन नाका क्षेत्र में वन विभाग की भूमि पर पेड़ पौधे उखाड़ कर कब्जा करने वाले लोगों के सामने वन विभाग कार्रवाई करने में अनदेखी बरत रहा है। वन नाका सोहेला में प्लांटेशन 5 के पास वन भूमि पर कुछ दिनों पूर्व करीब 30 बीघा भूमि पर हिंगोटा, खेजड़ी, टोटलीस, जूली फ्लोरा (बबूल) आदि प्रजाति के पेड़ पौधों को उखाड़ कर कब्जा कर लिया गया।

By: pawan sharma

Published: 12 Jul 2021, 03:51 PM IST

पीपलू. उपखंड क्षेत्र के सोहेला वन नाका क्षेत्र में वन विभाग की भूमि पर पेड़ पौधे उखाड़ कर कब्जा करने वाले लोगों के सामने वन विभाग कार्रवाई करने में अनदेखी बरत रहा है। वन नाका सोहेला में प्लांटेशन 5 के पास वन भूमि पर कुछ दिनों पूर्व करीब 30 बीघा भूमि पर हिंगोटा, खेजड़ी, टोटलीस, जूली फ्लोरा (बबूल) आदि प्रजाति के पेड़ पौधों को उखाड़ कर कब्जा कर लिया गया।

जिस भूमि की पैमाइश सन 1975 में वन विभाग के ही कर्मचारियों द्वारा की गई थी। पूर्व में भी नापावाली प्लांटेशन में फॉरेस्टर कैलाश चौधरी द्वारा लगाई गई मुड्डी को वन विभाग के कर्मचारियों व राजस्व विभाग के कर्मचारियों की मौजूदगी में उखाड़ दिया गया था। जब इसका विरोध किया तो वन विभाग ने रातों-रात वापस लगा दी, लेकिन भूमाफियाओं पर कोई कार्रवाई नहीं की।

पिछले कुछ दिनों से फिर से सोहेला नाका क्षेत्र में वन भूमि को खुर्द-बूर्द कर मुडिया उखाडऩे का कार्य लोगों द्वारा किया जा रहा है। गांव के शरीफ खां ने बताया कि वन विभाग द्वारा सन 1962 में लाल पत्थर की मुडिया बनाई गई थी। 2006-07 में कैलाश चौधरी द्वारा राजस्व विभाग व वन विभाग द्वारा सामूहिक पैमाइश करवाकर सीमेंट मुडिया बनाई, जिन्हें खुर्द बुर्द करना गलत है।

ग्रामीण खुशीराम गुर्जर ने बताया कि माफियाओं द्वारा वन विभाग की भूमि से जितने पेड़ पौधे उखाड़े गए उससे 4 गुना पेड़ पौधे उक्त भूमि पर लगाया जाए। साथ ही पेड़ उखाडऩे वालों पर सख्त से सख्त कार्यवाही की जाए। ग्रामीण रामकिशन गुर्जर ने बताया कि पेड़ पौधे के अभाव में ओजोन परत पर छेद हो रहा है तथा कोरोना काल में ऑक्सीजन की कमी आई है। अगर वन भूमि से पेडो को उखाडा हैं तो दोषी कर्मचारियों व उखाडऩे वाले भू माफियाओं पर वन अधिनियम के तहत सख्त से सख्त कार्यवाही की जाए। साथ ही 10 गुना पौधे लगाकर पर्यावरण को बचाया जाना चाहिए।

कब्जा करने वालों के विरुद्ध करेंगे कार्रवाई

लोगों की ओर से करीब 68 बीघा भूमि पर कब्जा करने की तैयारी की जा रही थी। जिसका मौका पर्चा बनाया गया। अब 14 जुलाई को राजस्व विभाग व वन विभाग द्वारा उक्त भूमि की पैमाइश करवाई जाएगी। वहीं कब्जा करने वालों के विरूद्ध कार्रवाई की जाएगी।
विजय सिंह, फॉरेस्टर, नाका सोहेला

pawan sharma
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned