डेढ़ सौ साल पुराने रामसागर बांध की दरकी दीवारें व चादर

डेढ़ सौ साल पुराने रामसागर बांध की दरकी दीवारें व चादर

 

By: pawan sharma

Published: 18 Sep 2020, 04:19 PM IST

लाम्बाहरिसिंह. जल संसाधन विभाग की अनदेखी के चलते कस्बे का रामसागर बांध की सुरक्षा दीवार समेत चादर मरम्मत के अभाव में जगह-जगह से दरक गई है। वहीं बांध की पाळ पर सुरक्षा दीवार करीब नब्बे फीट सुरक्षा दीवार ढह गई है। ऐसे में समय रहते इसकी मरम्मत नहीं की गई तो बांध कभी भी टूट सकता है।

बांध पानी से भरा हुआ है। वहीं बांध से पानी का रिसाव जारी है। ग्रामीणों ने कई बार विभाग को अवगत कराया लेकिन ध्यान नहीं दिया गया। हालात यह है कि बांध के पाळ के बाहर की सुरक्षा दीवार टूटे दो माह गुजरने व बीते दो सालों से बांध में हल्का रिसाव हो रहा है, लेकिन आज तक अधिकारी मरम्मत नहीं कराई गई।

बांध समिति सदस्य राजेश बल्दवा ने बताया कि दरकी दीवारों व चादर की मरम्मत कार्य नहीं करवाने से दिनोंदिन बांध दुर्दशा का शिकार हो रहा है। समिति सदस्य विजय गौत्तम ने बताया कि बीते दो सालों से मोरी के पास से हल्का रिसाव हो रहा ह, जिसकी मरम्मत नहीं कराई गई है। बांध की पाळ के बाहर की ओर बनी सुरक्षा दीवार ढह गई है। साथ ही बताया कि बांध में पानी की आवक बढऩे की दशा में बांध टूटने का अंदेशा बना हुआ है।


डेढ़ सौ साल पुराना है बांध

सेवानिवृत ग्रामसेवक मूलशंकर शर्मा ने बताया कि पूर्व जयपुर रियासत ने करीब डेढ़ सौ साल पूर्व रामसागर बांध का निर्माण करवाया था। बांध के निर्माण के समय टोरडीसागर,चांदसेन बांध का भी निर्माण किया गया था।

उन्नीस वर्ष पूर्व चली थी चादर
बांध पर कार्यरत कर्मचारी भरत शर्मा ने बताया कि बांध की 15 फ ीट छह इंच भराव क्षमता है। बांध की चादर 2001 में चली थी। बांध में पानी का गेज तेरह फीट दस इंच है वही बांध में पानी की आवक जारी है। चादर चलने में दो फीट पानी की आवश्यकता है। बांध में भरे पानी से लाम्बाहरिसिंह ,बागड़ी, महादेवपुरा गंाव सहित अन्य गांवों की करीब 600 हैक्टेयर भूमि में सिंचाई होती है।

अधिकारियों को बताया
क्षतिग्रस्त दीवार व चादर समेत रिसाव व झरने के पानी निकासी समेत अन्य कार्य करवाने के लिए उच्चाधिकारियों को सूचित कर दिया गया है।
भरत शर्मा, बेलदार रामसागर बांध

अधिकारियों को बताया
मरम्मत कार्य के लिए बजट नहीं है। प्रस्तावित जायका योजना में बजट आवंटित होने के बाद मरम्मत कार्य शुरु करवाया जाएगा।
जयदेवसिंह, कनिष्ठ अभियंता जल संसाधन विभाग मालपुरा

pawan sharma
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned