टोंक. प्रदेश की लाइप लाइन बीसलपुर बांध व बड़ी नदियों में शामिल बनास नदी के किनारे बसे टोंक जिले में पानी की समस्या बढ़ती जा रही है। जबकि बड़ी नदी व बांध के होने पर यह समस्या होनी नहीं चाहिए, लेकिन प्रबंधन की कमी के चलते लोगों को प्यास बुझाने के लिए भटकना पड़ रहा है। प्रशासन ने धरने-प्रदर्शन को देखते हुए जिले के शहरों में तो पानी की आपूर्ति ठीक-ठाक कर दी, लेकिन गांवों में स्थिति को नियंत्रण में नहीं किया जा रहा है।


इसी का नतीजा है कि आधुनिक युग में भी ग्रामीण महिलाएं सिर पर मटके रखकर घर से दूर कुओं से पानी लाने को विवश है। जबकि प्रशासन को जिले के प्रत्येक गांव व कस्बों को बीसलपुर बांध तथा बनास नदी के स्रोतों से आपूर्ति की जा सकती है। वहीं गांवों में बीसलपुर बांध तक पानी पहुंचाने की परियोजना भी अभी पूरी नहीं हो पाई है। अभी जिले के १७५ गांव बीसलपुर बांध के पानी का इंतजार कर रहे हैं।

जबकि यह परियोजना काफी पुरानी है। दूसरी ओर टोंक शहर में जलदाय विभाग के अभियंताओं की अनदेखी के चलते बजरी के अवैध खनन माफियाओं ने बनास नदी स्थिति जल स्रोतों को क्षतिग्रस्त कर दिया है। जबकि दो दशक पहले तक शहर की सम्पूर्ण आबादी को बनास नदी के स्रोतों से पानी की आपूर्ति की जाती थी, लेकिन पहले बीसलपुर बांधी नाथड़ी परियोजना से पानी मिलने लगा तो जलदाय विभाग ने बनास नदी के स्रोतों की ओर ध्यान देना बंद कर दिया। ऐसे में बनास नदी के ज्यादातर स्रोत अवैध खनन की भेंट चढ़ गए।


जलदाय विभाग शहर में जलापूर्ति सुबह तथा शाम को अलग-अलग समय में करता है। इसमें जेल चौकी, कृषि मंडी, पुलिस लाइन, बमोर गेट, मेहंदीबाग, एपीआरटीएस, हाउसिंग बोर्ड, हाउसिंग बोर्ड तथा देशवाली मोहल्ला से जुड़े इलाकों में जलापूर्ति की जाती है।


इसके लिए जलदाय विभाग ने शहर स्थित पानी की टंकियों के आधार पर जोन बना रखे हैं। इसमें जेल चौकी में १८, कृषि मंडी, देशवाली मोहल्ला व हाउसिंग बोर्ड प्रथम में २-२, बमोर गेट में ४, पुलिस लाइन व बमोर गेट में ३-३, मेहंदीबाग में ३, एपीआरटीएस में ७ जोन बने हुए हैं।

राजमहल. बीसलपुर से तीन किमी दूर माताजी रावता गांव विस्थापित कॉलोनी में पेयजल के लिए लगी भीड़।
राजमहल। धांधोली के पास राष्ट्रिय राजमार्ग को पार कर खेतों में बने कुएं से पानी लेकर गुजरती महिलाएं।

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned