scriptWater left in the canal from Sahodara dam for irrigation of Rabi crop | सहोदरा बांध से रबि की फसल में सिंचाई के लिए नहर में छोड़ा पानी | Patrika News

सहोदरा बांध से रबि की फसल में सिंचाई के लिए नहर में छोड़ा पानी

किसान जुट गए तैयारी में
पहले ग्रामीणों ने विधिवत रूप से पूजा-अर्चना की
पीपलू. सहोदरा बांध से गुरुवार को सिंचाई के लिए नहरों में विधिवत पूजा अर्चना के साथ पानी छोड़ा गया हैं। किसान खेतों में फसलों को पानी पिलाने की तैयारियों में जुट गए। नानेर सरपंच मदन लाल चौधरी ने बताया कि बांध में इस समय 8 फीट 9 इंच पानी भरा हुआ है।

टोंक

Published: November 26, 2021 08:34:48 pm

सहोदरा बांध से रबि की फसल में सिंचाई के लिए नहर में छोड़ा पानी
किसान जुट गए तैयारी में
पहले ग्रामीणों ने विधिवत रूप से पूजा-अर्चना की
पीपलू. सहोदरा बांध से गुरुवार को सिंचाई के लिए नहरों में विधिवत पूजा अर्चना के साथ पानी छोड़ा गया हैं। किसान खेतों में फसलों को पानी पिलाने की तैयारियों में जुट गए। नानेर सरपंच मदन लाल चौधरी ने बताया कि बांध में इस समय 8 फीट 9 इंच पानी भरा हुआ है।
सहोदरा बांध से रबि की फसल में सिंचाई के लिए नहर में छोड़ा पानी
सहोदरा बांध से रबि की फसल में सिंचाई के लिए नहर में छोड़ा पानी

नहरों से कैलाशपुरी, रहीमपुरा नयागांव, नानेर, इब्राहिमपुरा ठाठा, बड़ा ठाठा, ईशाकपुरा, निमेड़ी, निमेड़ा आदि गांवों की 1185 हैक्टेयर भूमि सिंचित होगी। सहायक अभियंता जयदेवसिंह सोलंकी ने बताया कि नहर संगम अध्यक्ष लादू चौधरी, भंवर डूचोलिया की मौजूदगी में मोरी से नहर में पानी छोड़ा गया हैं।

मालपुरा. उपखंड के राम सागर गनवर बांध की शुक्रवार शाम को नहर खोली गई। इस दौरान जल संसाधन विभाग के सहायक अभियंता जयदेव सिंह सोलंकी सहित जल उपभोक्ता संगम रामसागर गनवर अध्यक्ष रामजी लाल जाट, सदस्य प्रधान जाट एवं युवा समाजसेवी बजरंगलाल देशमी व अन्य काश्तकार मौजूद रहे।
माशी बांध की नहरों में आज दौड़ेगा नीर
रबी की फसल में सिंचाई के लिए माशी बांध से शनिवार को मुख्य नहर में पानी छोड़ा जाएगा। जलसंसाधान विभाग के अधिशासी अभियंता अशोक कुमार जैन ने बताया कि माशी बांध से रबी की फसल में सिंचाई को लेकर किसानों की मांग के अनुसार शनिवार को विधिवत पूजा अर्चना के साथ बांध की मोरी से मुख्य नहर में पानी छोड़ा जाएगा।

एईएन अशोक कुमार जैन ने बताया कि माशी बांध में भराव क्षमता 10 फीट के मुकाबले वर्तमान में 6 फीट पानी है, जिसमें 1550 कुल एमसीएफटी मौजूद पानी में से सिंचाई के लिए 1090 एमसीएफटी पानी छोड़ा जाएगा। उन्होंने बताया कि नहर से क्षेत्र के 29 गांवों के कमाण्ड़ क्षेत्र की 6 98 5 हैक्टेयर भूमि सिंचित हो सकेगी। नहर के वॉल्व को शुरुआत में 1 फीट खोलकर पानी छोड़ा जाएगा। धीरे-धीरे पानी के आगे पहुंचने पर बढ़ाकर 4 फीट तक खोला जाएगा।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

कम उम्र में ही दौलत शोहरत हासिल कर लेते हैं इन 4 राशियों के लोग, होते हैं मेहनतीबाघिन के हमले से वाइल्ड बोर ढेर, देखते रहे गए पर्यटक, देखें टाइगर के शिकार का लाइव वीडियोइन 4 राशि की लड़कियों का हर जगह रहता है दबदबा, हर किसी पर पड़ती हैं भारीआनंद महिंद्रा ने पूरा किया वादा, जुगाड़ जीप बनाने वाले शख्स को बदले में दी नई Mahindra BoleroFace Moles Astrology: चेहरे की इन जगहों पर तिल होना धनवान होने की मानी जाती है निशानीइन नाम वाली लड़कियां चमका सकती हैं ससुराल वालों की किस्मत, होती हैं भाग्यशालीकरोड़पति बनना है तो यहां करे रोजाना 10 रुपये का निवेशदेश में धूम मचाने आ रही हैं Maruti की ये शानदार CNG कारें, हैचबैक से लेकर SUV जैसी गाड़ियां शामिल

बड़ी खबरें

Republic Day 2022 LIVE updates: राजपथ पर दिखी संस्कृति और नारी शक्ति की झलक, 7 राफेल, 17 जगुआर और मिग-29 ने दिखाया जलवानहीं चाहिए अवार्ड! इन्होंने ठुकरा दिया पद्म सम्मान, जानिए क्या है वजहजिनका नाम सुनते ही थर-थर कांपते थे आतंकी, जानें कौन थे शहीद ASI बाबू राम जिन्हें मिला अशोक चक्रबिहार में तिरंगा फहराने के दौरान पाइप में करंट से बच्चे की मौत, कई झुलसेरेलवे का बड़ा फैसला: NTPC और लेवल-1 परीक्षा पर रोक, रिजल्‍ट पर पुर्नविचार के लिए कमेटी गठितUP Assembly Elections 2022 : सपा सांसद आजम खां जेल से ही करेंगे नामांकन, कोर्ट ने दी अनुमतिहाईवे के ओवरब्रिजों में सीरियल बम प्लांट, जानिए सीएम योगी के लिए लेटर में क्या लिखा, Videoकिसान मनाएंगे विश्वासघात दिवस, करेंगे पीएम मोदी का पुतला दहन, जानिए क्यों ?
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.