प्री बोर्ड के साथ प्रायोगिक परीक्षाओं का भार

बोर्ड परीक्षार्थी दुविधा में
12 फरवरी तक प्री बोर्ड वहीं 14 फरवरी तक है,प्रायोगिक परीक्षाएं
विद्यार्थियों की पढ़ाई हो रही है, चौपट
टोंक. सरकारी विद्यालयों मे बोर्ड परीक्षा परिणाम सुधारने की कवायद के तहत प्री बोर्ड परीक्षाओं का द्वितीय चरण चल रहा है। जनवरी माह के प्रथम सप्ताह से 12 फरवरी तक इसके तीन चरण सम्पादित हो रहे हैं।

प्री बोर्ड के साथ प्रायोगिक परीक्षाओं का भार
बोर्ड परीक्षार्थी दुविधा में
12 फरवरी तक प्री बोर्ड वहीं 14 फरवरी तक है,प्रायोगिक परीक्षाएं
विद्यार्थियों की पढ़ाई हो रही है, चौपट
टोंक. सरकारी विद्यालयों मे बोर्ड परीक्षा परिणाम सुधारने की कवायद के तहत प्री बोर्ड परीक्षाओं का द्वितीय चरण चल रहा है। जनवरी माह के प्रथम सप्ताह से 12 फरवरी तक इसके तीन चरण सम्पादित हो रहे हैं।

इधर विभाग की ओर से बारहवीं प्रायोगिक बोर्ड परीक्षाएं भी 15 जनवरी से 14 फरवरी 2020 तक आयोजित कराई जाने से प्रायोगिक परीक्षक सहित बोर्ड परीक्षार्थियों पर दोहरा भार पड़ा है।

बोर्ड परीक्षा से पूर्व का महत्वपूर्ण समय इनमे व्यतीत होने से विद्यार्थियों की पढ़ाई चौपट होने की शिकायत भी मिल रही है। बारहवीं बोर्ड परीक्षार्थी सुरेश गुर्जर, चेतन वर्मा, खुशबू गौतम, आरती वर्मा और कविता गुर्जर ने बताया कि जनवरी माह के प्रथम सप्ताह से उनकी लगभग एक ओर हर दिन प्री बोर्ड परीक्षा हो रही है।

आधा समय तो इसी मे गुजर जाता है, इससे वो परीक्षा से पूर्व के महत्वपूर्ण समय मे विषयाध्यापक से अपनी समस्याओं का समाधान भी नहीं करवा पा रहे हैं। प्री बोर्ड के चलते पढ़ाई के साथ उनकी प्रायोगिक परीक्षा की तैयारी भी प्रभावित हो रही है।

प्रथम प्री बोर्ड परीक्षा विद्यालय स्तर पर दस जनवरी तक , द्वितीय प्री बोर्ड 24 जनवरी से एक फरवरी तक ब्लॉक स्तर पर और तीसरे चरण के अन्तर्गत जिला स्तरीय प्री बोर्ड परीक्षाएं तीन फरवरी से 12 फरवरी तक आयोजित करने का समय विभाग चक्र जारी किया गया है।

सभी विषयाध्यापक एवं बोर्ड परीक्षार्थी प्री बोर्ड परीक्षाओं मे उलझे हैं, ऐसे मे प्रायोगिक परीक्षा भी इसी अवधि मे कराने के आदेश से सब परेशान हैं और दुविधा मे हैं। हालांकि विभागीय अधिकारी इन पर नियमित रूप से मॉनेटरिंग कर इनको व्यवस्थित करने मे जुटे है।

माध्यमिक जिला शिक्षाधिकारी मुख्यालय टोंक की ओर से भी वीक्षक और परीक्षार्थियों के असमंजस और परेशानी को दूर करने के प्रयास करने साथ तय प्रायोगिक परीक्षा की तिथि की सूचना भिजवाने के लिए जिले के समस्त मुख्य ब्लॉक शिक्षाधिकारियों और संस्था प्रधानो को लिखा गया है।

परीक्षार्थियों का कहना है कि ये पढ़ाई का आखिरी दौर है, समय का ओर अधिक सदुपयोग शिक्षकों से समस्या समाधान करवाकर भी करवाया जा सकता है।

jalaluddin khan Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned