नगर कीर्तन यात्रा का पुष्प वर्षा कर स्वागत

कोटा के अगमगढ़ से दूनी क्षेत्र के धुवाकलां जाने वाली नगर कीर्तन यात्रा का शनिवार को देवली पहुंचने पर नानक नाम लेवा संगत की ओर से स्वागत किया गया। इस दौरान स्थानीय श्रद्धालुओं ने कीर्तन यात्रा पर पुष्प वर्षा कर स्वागत किया।

By: MOHAN LAL KUMAWAT

Published: 01 Mar 2020, 10:07 AM IST

देवली. कोटा के अगमगढ़ से दूनी क्षेत्र के धुवाकलां जाने वाली नगर कीर्तन यात्रा का शनिवार को देवली पहुंचने पर नानक नाम लेवा संगत की ओर से स्वागत किया गया। इस दौरान स्थानीय श्रद्धालुओं ने कीर्तन यात्रा पर पुष्प वर्षा कर स्वागत किया।

गुरुद्वारा कमेटी प्रवक्ता गोविन्द सिंह सेठी ने बताया कि पंज प्यारों की अगुवाई में नगर कीर्तन यात्रा दोपहर ३ बजे पेट्रोल पम्प चौराहे पहुंची। जहां गुरु ग्रंथ साहिब के वाहन पर व कीर्तन यात्रियों पर पुष्प वर्षा की गई। यहां चौराहे पर कीर्तन यात्रा के श्रद्धालुओं को अल्पाहार दिया।

इस दौरान मुस्लिम समाज के लोगों ने सदर मस्जिद के बाहर यात्रियों का स्वागत कर धार्मिक सद्भावना का परिचय दिया। मुस्लिम समाज के शादाब अख्तर, सलीम कुरैशी, अकील, सिराजुद्दीन, शम्मी हुसैन ने गुरु ग्रंथ साहिब के आगे मत्था टेका। इसके बाद कीर्तंन यात्रा मुख्य बाजार होते हुए स्थानीय गुरुद्वारा पहुंची।

इस बीच व्यापारियों ने यात्रियों पर पुष्पवर्षा की। गुरद्वारा में श्रद्धालुओं की ओर से अरदास की गई। इस दौरान कमेटी अध्यक्ष परमजीत सिंह, उपप्रधान भगवान सेठी, कोषाध्यक्ष अमरचंद बिलोची, संरक्षक सुभाष मनचंदा, मनजीत सिंह काका, मोहन बिलोची, हरि बिलोची, प्रीतपाल सिंह, कुलदीप, दौलत, सचिन, पीयूष, आकाश, खुशवीर सिंह सहित मौजूद थे। अरदास के बाद कीर्तन यात्रा धुवाकलां के लिए रवाना हो गई।

मालपुरा. श्री जैन श्वेताम्बर खरतरगच्छ संघ जयपुर की ओर से टोडा रोड स्थित दादाबाड़ी में 9 मार्च से दो दिवसीय दादा गुरुदेव श्रीजिन कुशलसूरी का 687 वां प्रत्यक्ष दर्शन दिवस समारोह मनाया जाएगा।


श्री जैन श्वेताम्बर खरतरगच्छ संघ जयपुर के अध्यक्ष प्रकाश चन्द लोढ़ा ने बताया कि समारोह में 8 मार्च को पदयात्रियों का मालपुरा नगर में प्रवेश होगा।

जहां जुलूस निकाला जाकर सभी पदयात्रियों का दादाबाड़ी में प्रवेश होगा। दादाबाड़ी में 9 मार्च को दोपहर में पक्षाल पूजन, स्नात्र पूजा व दादा गुरुदेव की बड़ी पूजा की जाकर रात्रि में भजन संध्या का आयोजन किया जाएगा।

आयोजक परिवार के विशाल चंद बोथरा, पदमा बोधरा के परिवारजनों ने बताया कि 10 मार्च को प्रत्यक्ष दर्शन दिवस पर सुबह भक्तामर पाठ, गुरु इकतीसा, पक्षाल पूजन, स्नात्र पूजा व दादा गुरुदेव की बड़ी पूजा का विधिकारक कलकता के मोहित बोथरा की देखरेख में आयोजन किया जाएगा।

MOHAN LAL KUMAWAT
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned