scriptWings of development will be established in the district with an inve | जिले में 623 करोड़ के निवेश से लगेंगे विकास के पंख | Patrika News

जिले में 623 करोड़ के निवेश से लगेंगे विकास के पंख

औद्योगिक क्षेत्र को मिलेगा बढ़ावा
नए एमओयू से 11 हजार को मिलेगा रोजगार
मंत्री ने कहा कि विकास को लगेंगे पंख
टोंक. जिला उद्योग एवं वाण्ज्यिक केन्द्र की ओर से जिला स्तरीय समिट इन्वेस्ट टोंक-2022 का आयोजन गुरुवार को कृषि विभाग के ऑडिटोरियम में हुआ। इसकी शुरुआत अल्पसंख्यक मामलात, वक्फ, उपनिवेशन, कृषि सिंचित क्षेत्र विकास, जल उपयोगिता मंत्री एवं टोंक जिला प्रभारी मंत्री शाले मोहम्मद ने किया।

टोंक

Published: January 13, 2022 08:27:21 pm

जिले में 623 करोड़ के निवेश से लगेंगे विकास के पंख
औद्योगिक क्षेत्र को मिलेगा बढ़ावा
नए एमओयू से 11 हजार को मिलेगा रोजगार
मंत्री ने कहा कि विकास को लगेंगे पंख
टोंक. जिला उद्योग एवं वाण्ज्यिक केन्द्र की ओर से जिला स्तरीय समिट इन्वेस्ट टोंक-2022 का आयोजन गुरुवार को कृषि विभाग के ऑडिटोरियम में हुआ। इसकी शुरुआत अल्पसंख्यक मामलात, वक्फ, उपनिवेशन, कृषि सिंचित क्षेत्र विकास, जल उपयोगिता मंत्री एवं टोंक जिला प्रभारी मंत्री शाले मोहम्मद ने किया।
जिले में 623 करोड़ के निवेश से लगेंगे विकास के पंख
जिले में 623 करोड़ के निवेश से लगेंगे विकास के पंख

उन्होंने कहा कि जिले में औद्योगिक विकास को गति मिले साथ ही उद्योगों के जरिए जिले में रोजगार मिलने से बेरोजगारी भी दूर होगी। मंत्री शाले मोहम्म्द ने इन्वेस्ट इन टोंक में हुए 623.34 करोड़ रुपए के एमओयू पर बधाई देते हुए कहा कि जिले में 11 हजार 295 लोगों को रोजगार मिलेगा।
उन्होंने कहा कि यह अनूठी पहल करके लोगों को इन्वेस्ट के लिए एक मंच दिया है। जो उद्यमी यहां आए उनको उद्योग से जुड़ी सभी विभागों की सुविधाएं एक छत के नीचे उपलब्ध होगी। उन्होने कहा कि ऐसा पहले किसी सरकार ने नहीं किया जो वर्तमान गहलोत सरकार ने उद्यमियों के लिए निवेश की राह खोली है।
वहीं टोंक राजधानी जयपुर के नजदीक होने से व्यापार को अच्छा बाजार भी मिलेगा। उन्होंने कहा कि टोंक औद्योगिक विकास में आगे रहेगा, ऐसी उम्मीद है। उन्होंने कहा कि टोंक जिले में रीको क्षेत्र भी विकसित होंगे। पिछले तीन साल में दो साल तो कोरोना महामारी में गुजर गया। ऐसी परिस्थिति में भी राजस्थान की मदद के लिए चर्चा रही।
उन्होंने वर्तमान में कोविड के हालात का जिक्र करते हुए कहा कि केन्द्र सरकार से जीएसटी का पैसा नहीं आने के बावजूद शुद्ध पेयजल, उच्च शिक्षा के लिए कॉलेज, चिकित्सा क्षेत्र में मेडिकल कॉलेज बलिकों के लिए महात्मा गांधी इंग्लिश मीडियम स्कूल खोले गए। ताकि बच्चियों को निजी स्कूलों की तरह अच्छी शिक्षा मिल सके।

कार्यक्रम में आए निवाई विधायक प्रशांत बैरवा ने कहा कि मुझे गर्व है कि निवाई से सबसे ज्यादा इन्वेस्ट हुआ है। इससे निवाई में आद्योगिक विकास को बल मिलेगा। वहीं लोगों को रोजगार के नए अवसर भी मिलेंगे।
बैरवा ने कहा कि सरकार की तरफ से मिलने वाली सब्सिडी का व्यापारी लाभ उठाए। वहीं निवाई कृषि मंडी के व्यापारियों को दिए गए पट्टे से ऑयल मिल्स को बढ़ावा मिलेगा। निवाई विधायक ने कहा वह भी टोंक जिले में जल्दी ही उद्योग के लिए इन्वेस्ट करेंगे।

कार्यक्रम में जिला कलक्टर चिन्मयी गोपाल, अतिरिक्त जिला कलक्टर मुरारी लाल शर्मा, अतिरिक्त निदेशक उद्योग एवं वाणिज्य मुख्यालय जयपुर विपुल जानी, सलाहकार एण्ड एम रीको जयपुर बिन्दू करूणाकर, वरिष्ठ क्षैत्रिय प्रबंधक रीको जयपुर एल.सी. मैघानी, उपखण्ड अधिकारी गिरधर, नगर परिषद आयुक्त धर्मपाल जाट, सहायक क्षेत्रिय प्रबंधक रीको टोंक कमल कुमार मीणा, कांगे्रस के निवर्तमान जिलाध्यक्ष लक्ष्मण गाता एवं उद्योग संघों के पदाधिकारी एवं उद्यमी उपस्थित थे। अतिथियों ने विवरणिका का विमोचन किया कार्यक्रम का संचालन कवि प्रदीप पंवार ने किया।

52 एमओयू तथा एलओआई किए
जिला उद्योग केंद्र के महाप्रबंधक शैलेन्द्र शर्मा ने बताया कि इस इन्वेस्ट समिट में सीलिका प्रोसेसींग, एग्रो फूड प्रोसेंसिंग सेक्टर, ग्रेनाईट, मिनरल सेक्टर, वेयर हाउस, दाल मिल, सीमेंट प्रोडक्ट्स, एडिबल ऑयल एण्ड केक, डेयरी एण्ड एग्रो प्रोसेसिंग क्लस्टर, बिटूमिन डिकेंटींग एण्ड मोडिफायड बिटूमीन, कॉटन सीड ऑयल एण्ड केक, सॉलवेन्ट एण्ड ऑयल प्लाण्ट, फर्नीचर एण्ड हैण्डीक्राफ्ट, स्टील एवं एल्यूमिनियम फेब्रीकेशन आदि सेक्टर से संबंधित 623.34 करोड़ रुपए के निवेश के 52 एमओयू तथा एलओआई किए गए।
जिसमें लगभग 11295 को रोजगार का अवसर मिलेगा। राघव सोल्यूसन्स प्रा. लि. निदेशक संजय काबरा 165 करोड़ रुपए का निवेश कर भारत की सबसे बड़ी सीलिका प्रोसेसींग इकाई निवाई के चैनपुरा में स्थापित करेंगे। इस समिट में जिले की निवेश सम्भावनाओं पर पीपीटी एवं लघु फिल्म के माध्यम से निवेशकों को अवगत करवाया गया। इस दौरान प्रभारी मंत्री शाले मोहम्मद ने दो इकाइयों का वच्र्यूअल शिलान्यास एवं दो का वच्र्यूअल उद्घाटन किया।
एक ही विधायक आए
कार्यक्रम में जिले की चार सीट में से महज निवाई विधायक प्रशांत बैरवा ही शामिल हुए। इसके अलावा अन्य कोई विधायक नहीं आया। इसके अलावा अन्य जनप्रतिनिधि भी शामिल नहीं हुए। ऐसे में यह भी चर्चा का विषय रहा कि जिले के जनप्रतिनिधि कार्यक्रम से दूर रहे।
अन्य विकास पर नहीं बोले मंत्री
कार्यक्रम के बाद जब मंत्री शाले मोहम्मद से टोंक मेडिकल कॉलेज, बनास पुल व उच्च शिक्षा समेत अन्य सवाल किए गए तो वो कोई जवाब नहीं दे पाए। जबकि समिट में सबसे ज्यादा एमओयू भी टोंक जिला मुख्यालय की अपेक्षा निवाई क्षेत्र में हुए। अभी निवाई में औद्योगिक के तीन फेज है और चौथे की तैयारी चल रही है, लेकिन टोंक में औद्योगिक क्षेत्र लगातार पिछड़ रहा है।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

हार्दिक पांड्या ने चुनी ऑलटाइम IPL XI, रोहित शर्मा की जगह इसे बनाया कप्तानVIDEO: राजस्थान में 24 घंटे के भीतर बारिश का दौर शुरू, शनिवार को 16 जिलों में बारिश, 5 में ओलावृष्टिIndian Railways : अब ट्रेन में यात्रा करना मुश्किल, रेलवे ने जारी की नयी गाइडलाइन, ज़रूर पढ़ें ये नियमधन-संपत्ति के मामले में बेहद लकी माने जाते हैं इन बर्थ डेट वाले लोग, देखें क्या आप भी हैं इनमें शामिलइन 4 राशि की लड़कियों के सबसे ज्यादा दीवाने माने जाते हैं लड़के, पति के दिल पर करती हैं राजशेखावाटी सहित राजस्थान के 12 जिलों में होगी बरसातदिल्ली-एनसीआर में बनेंगे छह नए मेट्रो कॉरिडोर, जानिए पूरी प्लानिंगयदि ये रत्न कर जाए सूट तो 30 दिनों के अंदर दिखा देता है अपना कमाल, इन राशियों के लिए सबसे शुभ

बड़ी खबरें

विश्व के सबसे लोकप्रिय नेता बने PM Modi, ग्लोबल सर्वे में बाइडेन और ट्रूडो जैसे दिग्गजों को पछाड़ाCorona Update: कोरोना ने बनाया नया रिकॉर्ड, 24 घंटे में 3 लाख 47 हजार नए केस, 2.51 लाख रिकवरदिल्ली में घटते कोरोना मामलों के बीच वीकेंड कर्फ्यू हटाने का फैसला, CM अरविन्द केजरीवाल ने उपराज्यपाल को भेजा पत्र50 साल से जल रही ‘अमर जवान ज्योति’ आज से इंडिया गेट पर नहीं, राष्ट्रीय युद्ध स्मारक पर जलेगीT20 World Cup 2022: ICC ने जारी किया शेड्यूल, इस दिन होगी भारत-पाकिस्तान की टक्करप्रधानमंत्री 5 फरवरी को हैदराबाद में रामानुजाचार्य की 216 फुट ऊंची प्रतिमा का करेंगे अनावरण, 120 किलो सोने से बनी है ये प्रतिमाPariksha Pe Charcha 2022: छात्र, शिक्षक अब 27 जनवरी तक कर सकते हैं आवेदनबोर्ड का नया कदम, परीक्षा के पहले भी होगा परीक्षार्थियों का टेस्ट
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.