video: अथर्ववेद पारायण महायज्ञ में आहुतियां देकर वेद मंत्रों की व्याख्या की

यज्ञ में आचार्य सोमदेव ने संकल्प व वेद मंत्रों से आहुतियां दिलाई। उन्होंने वेद मंत्रों की व्याख्या की।

By: pawan sharma

Published: 04 Jan 2018, 08:34 AM IST

निवाई. मूण्डिया स्थित सत्यासत्य निर्णय योग साधना वेद आश्रम पर सात दिवसीय अथर्ववेद पारायण महायज्ञ के दौरान योगाचार्य कर्मवीर ने श्रद्धालुओं को योगासन करवाया। अथर्ववेद पारायण महायज्ञ के तीसरे दिन बुधवार को आचार्य कर्मवीर ने योग व आसन करवाए।

 

 

 

उन्होंने कहा कि योग से उच्च रक्तचाप, मधुमेह, कमर दर्द, सिर दर्द, घुटनों का दर्द एवं नैत्र ज्योति व पेट सम्बन्धी बीमारियों का उपचार होता है। मनुष्य निरोगी रहता है। उन्होंने कहा कि जहां सत्य का ज्ञान हो वहांं जीव, आत्मा, प्रकृति एवं ईश्वर का स्वरूप दिखता है।

 

 

 

यज्ञ में आचार्य सोमदेव ने संकल्प व वेद मंत्रों से आहुतियां दिलाई। उन्होंने वेद मंत्रों की व्याख्या की। उन्होंने कहा कि जीवन में कई विपत्तियां आती है। स्वयं को स्थिर रखे। जब व्यक्ति का संतुलन बिगड़ता है तो परिस्थिति बिगड़ती है। हमें सदैव मन व वाणी का संतुलन रखना चाहिए।

 

 

 

इस दौरान बहन रामकुमारी शास्त्री ने भजनों के द्वारा पाखण्डों का खण्डन किया। स्वयं के बालकों को संस्कारित शिक्षा देवें। देश को आज संस्कारित मानव की आवश्यकता है।

 

 


धार्मिक समारोह संस्कृति का हिस्सा

बंथली. धार्मिक समारोह एकता के सूत्र में बांधते है। धार्मिक समारोह हमारी हमारी संस्कृति का हिस्सा है। यह बात कृषि मंत्री प्रभुलाल सैनी ने मंगलवार रात मुगलाना का झौंपड़ा स्थित सीतारामजी मंदिर में धाकड़ समाज के दो दिवसीय सत्संग एवं महाप्रसादी समारोह की पूर्णाहुति पर कही।

 

 

 

भाजपा पंचायतराज प्रकोष्ठ प्रदेश उपाध्यक्ष उदयलाल गुर्जर ने कहा कि धार्मिक आयोजन हमें जीवन जीने की सरल तकनीक सिखाते हंै। दूनी कृषि उपज मंडी समिति अध्यक्ष बाबूलाल जांगिड़ ने धार्मिक आयोजनों को संस्कृति की सौगात बताई।

 

 

 

समारोह को अखिल भारतीय धाकड़ महासभा के प्रदेश संगठन मंत्री नीलम धाकड़, राज. माध्य. एवं प्राथ. शिक्षक संघ जिला उपाध्यक्ष ओमप्रकाश रोझ ने भी सम्बोधित किया।

 

कार्यक्रम समिति के शिवजीलाल धाकड़ व भगवान धाकड़ ने बताया कि धुवांकला मार्ग स्थित चमनेश्वर महादेव मंदिर से कलशयात्रा रवाना हुई, जो मुख्य मार्गों से होकर झौंपड़ा स्थित सीतारामजी मंदिर पहुंची।

 

 

 

बाद में श्रद्धालुओं ने मंदिर परिसर में वैदिक मंत्रों के बीच हवनकुण्ड में आहुतियां देकर प्रदेश-देश में खुशहाली की कामना की।इस दौरान कृषि मंत्री सैनी सहित अन्य अतिथियों का स्वागत किया गया। ग्रामीणों की मांग पर कृषि मंत्री सैनी मुगलाना से घाड़ तक पक्की सडक़, मुगलाना तालाब पर घाट निर्माण की घोषणा की।

 

 

बाद में भगवान की महाआरतीे पश्चात लोगों ने भण्डारे में प्रसादी ग्रहण की। इस मौके पर पप्पू धाकड़, छीतर धाकड़, हेमराज धाकड़, रामदेव धाकड़, बालकिशन धाकड़, संजय धाकड़ आदि मौजूद थे।

Show More
pawan sharma
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned