Ganesh-Chaturthi

गणेश चतुर्थी

Ganesh-Chaturthi

विवरण :
शिवपुराणमें भाद्रपद मास के कृष्णपक्ष की चतुर्थी को मंगलमूर्तिगणेश की अवतरण-तिथि बताया गया है जबकि गणेशपुराणके मत से यह गणेशावतार भाद्रपद शुक्ल चतुर्थी को हुआ था। गण + पति = गणपति। संस्कृतकोशानुसार ‘गण’ अर्थात पवित्रक। ‘पति’ अर्थात स्वामी, ‘गणपति’ अर्थात पवित्रकोंके स्वामी।

गणेश चतुर्थी : भगवान गणपति का प्राकट्य दिवस है। इस दिन गणपति की विधिपूर्वक पूजा करने से वे शीघ्र प्रसन्न होते हैं और अपने भक्त के जीवन में आने वाले विघ्नों को दूर करते हैं। कैसे करें गणपति को प्रसन्न और किस विधि से करें बप्पा की पूजा, जानिए यहां सबकुछ ...

News

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK