Itmad Ud Daulah

एत्मादुद्दौला आगरा

Itmad Ud Daulah

विवरण :

आगरा। मुगलिया शहर आगरा में स्मारकों की भरमार है, उसमें से एक एत्मादुद्दौला स्मारक। ताजमहल जैसी आकृति का नजर आने वाला और धवल संगमरमरी स्मारक होने के कारण इसे "बेबी ताज" के नाम से भी पुकारा जाता है। एत्मादुद्दौला का निर्माण सन 1622-28 के बीच मुगल बादशाह जहाँगीर के काल में हुआ था। ये मिर्जा ग्यासबेग और उनकी पत्नी अस्मत बेगम का मकबरा है। मिर्जा ग्यासबेग ईरान के रहने वाले थे और बादशाह अकबर की दरवार में सेवारत थे। मिर्जा घियास-उद-दीन बेग़ गियास बेग प्रसिद्ध मुगल बादशाह जहांगीर की बेगम नूरजहां के पिता "मुमताज महल" के दादा थे। बादशाह जहाँगीर ने नूरजहाँ से निकाह करने के पश्चात उन्हें अपना बजीर बना दिया था । उन्हें सात मनसब और "ऐत्मादुद्दौला" (शाही कोषाध्यक्ष ) का पद प्राप्त था। मिर्जा ग्यासबेग की पत्नी की मृत्यु के कुछ महीने बाद ही सन 1622 में उनकी मृत्यू हुई । नूरजहाँ ने अपने माता-पिता के लिए यह मकबरा सन 1622-28 के मध्य बनवाया। मुगल काल के अन्य मकबरों से अपेक्षाकृत छोटा होने से, इसे कई बार श्रंगारदान भी कहा जाता है। यहां के बाग, पीट्रा ड्यूरा पच्चीकारी, व कई घटक ताजमहल से मिलते हुए हैं।

 

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK