Omwati Devi Jatav

ओमवती देवी जाटव

Omwati Devi Jatav

विवरण :

नगीना सुरक्षित लोकसभा सीट पर शुरू से ही मुस्लिम और दलित गठजोड़ चला है। यह सीट 2009 में परिसीमन के बाद बनी थी। इस सीट से 2019 के लोकसभा चुनाव में कांग्रेस ने ओमवती जाटव को मौका दिया है। ओमवती जाटव भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) को छोड़कर कांग्रेस में आई हैं।

जीवन

ओमवती जाटव का जन्‍म 1949 को बिजनौर के गांव तखावली में हुआ था। उनके पिता का नाम छोटिया सिंह था। जून 1959 में ओमवती जाटव की शादी आरके सिंह से हुई। आरके सिंह आईएएस अधिकारी रह चुके हैं। उनके के तीन बेटियां हैं। वे नगीना के सब्जी मंडी के पास अपने पैतृक आवास में रहते हैं।

राजनीतिक सफर

ओमवती के पति आरके सिंह भी 2009 में नगीना सीट से बसपा के टिकट पर चुनाव लड़ चुके हैं। उन्‍हें हार का सामना करना पड़ा था। ओमवती ने अपने राजनीति सफर की शुरुआत कांग्रेस पार्टी से की थी। 1985 में वह बिजनौर सीट से विधायक बनीं। बाद में वह कांग्रेस से सपा में शामिल हो गईं। सपा में 1996 में विधायक बनीं। बिजनौर लोकसभा सीट पर 1997 में सांसद चुनी गईं। फिर 2002 में सपा से विधायक बनीं। 2007 में वह बसपा में शामिल हो गईं और नगीना से जीत विधायक बनीं। बाद में बसपा सुप्रीमो मायावती ने उन्हें राज्यमंत्री बना दिया। 2012 में ओमवती विधानसभा चुनाव हार गईं। इसके बाद दोनों पति और पत्नी बसपा का दामन छोड़कर भाजपा में शामिल हो गए। 2014 के लोकसभा चुनाव में टिकट न मिलने पर भाजपा ने ओमवती को 2017 विधानसभा चुनाव में मौका दिया। इसमें ओमवती को हार का सामना करना पड़ा। 2019 में लोकसभा चुनाव में वह भाजपा छोड़कर कांग्रेस में आ गईं।

Date Of Birth : 1949

Address : Bijnor

Birth Place : Bijnor

Husband : RK Singh

Political career : Omwati Jatav

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK