scriptआभानेरी की प्रसिद्ध चांद बावड़ी देखने खींचे चले आते है सैलानी, आप कीजिए यहां की सैर |you Must visit Beautiful Baoris in your rajasthan tour | Patrika News
ट्रेवल
आभानेरी की प्रसिद्ध चांद बावड़ी देखने खींचे चले आते है सैलानी, आप कीजिए यहां की सैर
7 Photos
Updated: December 30, 2017 07:26:39 pm
1/7

अपनी एेतिहासिक सुंदरता के लिए विश्व प्रसिद्घ राजस्थान दुनियाभर के पर्यटकों काे अपनी आेर आकर्षित करता है। हर राजस्थान घूमने के लिए लाखों की संख्या में देसी-विदेशी पर्यटक पहुंचते हैं। राजस्थान अपने किलों, महलों, झीलों, स्मारकों के अलावा बावड़ियों के लिए भी मशहूर है। इन ऐतिहासिक बावड़ियों की सुंदरता को देखते हुए इनके डाक टिकट भी जारी किए गए हैं। राजस्थान की जिन बावडिय़ों पर डाक टिकट जारी किया गया है उनमें दौसा जिले में आभानेरी की प्रसिद्ध चांद बावड़ी, बूंदी की रानीजी की बावड़ी एवं नागर सागर कुंड, अलवर जिले की नीमराना बावड़ी, जोधपुर का तूर जी का झालरा और जयपुर की पन्ना मियां की बावड़ी शामिल हैं। आइए तो जानते इन बावड़ियों में क्या है खास...

2/7

चाँद बावडी—9वीं शताब्दी में निर्मित इस बावडी का निर्माण राजा मिहिर भोज (जिन्हें कि चाँद नाम से भी जाना जाता था) ने करवाया था, और उन्हीं के नाम पर इस बावडी का नाम चाँद बावडी पडा। दुनिया की सबसे गहरी यह बावडी चारों ओर से लगभग 35 मीटर चौडी है तथा इस बावडी में ऊपर से नीचे तक पक्की सीढियाँ बनी हुई हैं, जिससे पानी का स्तर चाहे कितना ही हो, आसानी से भरा जा सकता है। 13 मंजिला यह बावडी 100 फ़ीट से भी ज्यादा गहरी है, जिसमें भूलभुलैया के रूप में 3500 सीढियाँ (अनुमानित) हैं। बावडी निर्माण से सम्बंधित कुछ किवदंतियाँ भी प्रचलित हैं जैसे कि इस बावडी का निर्माण भूत-प्रेतों द्वारा किया गया और इसे इतना गहरा इसलिए बनाया गया कि इसमें यदि कोई वस्तु गिर भी जाये, तो उसे वापस पाना असम्भव है।

अगली गैलरी
मेहमान नवाजी में दिल्ली सिरमौर, केरल में भी होती है खास खातिरदारी
next
loader

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Group Sites

Top Categories

Trending Topics

Trending Stories

Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.