Anupama Written Updates 28th April 2021: खतरे में अनुपमा की जिंदगी, हर दिन खुश रखने का बनाया प्लान

By: Neha Gupta
| Published: 28 Apr 2021, 11:22 AM IST
Anupama Written Updates 28th April 2021: खतरे में अनुपमा की जिंदगी, हर दिन खुश रखने का बनाया प्लान
Sudhanshu Pandey and Rupali Ganguly

अनुपमा की बीमारी के बारे में अद्वैत वनराज को बताता है। वो कहता है कि अनुपमा की ओवरीज में ट्यूमर है। समर भी ये बात सुन लेता है और बुरी तरह से टूट जाता है।

नई दिल्ली | टीवी के पॉपुलर शो अनुपमा में इन दिनों बहुत मुश्किल वक्त चल रहा है। अद्वैत अनुपमा और नंदिनी को फूल देता है और फिर उनसे तबीयत के बारे में पूछता है। अनुपमा बताती है कि वो ठीक है। अद्वैत अनुपमा को हंसाने की कोशिश करता है। वो उसे समझाता है कि महिलाएं अपने परिवार के लिए बिजी रहती हैं और खुद को भूल जाती हैं। जब एक इंसान खुद से ही प्यार नहीं करता तो कैसे वो किसी और से प्यार कर सकता है। तो उसे खुद का ध्यान जरूर रखना चाहिए। अनुपमा भी अद्वैत को कुछ बाते बताती हैं और कहती है कि एक मां बच्चों से अपना रिश्ता कभी खत्म नहीं कर सकती।

मां के लिए परेशान हुआ समर

अद्वैत अनुपमा की मेडिकल रिपोर्ट देखता है और वनराज उनसे पूछता है कि सबकुछ ठीक है। वो चिंतित होते हुए कहता है जैसे ही वो पूरी रिपोर्ट पढ़ लेगा वो सबसे पहले उसे बताएगा। समर नंदिनी को फोन करके पूछता है कि मम्मी कैसी हैं। वो बताती है कि डॉक्टर ने अभी तक बीपी की प्रॉब्लम बताई है। वो कहता है कि मम्मी पिछले 25 सालों से लगातार काम कर रही हैं, ह्यूमन को मल्टीविटामिन और जिंक की जरूरत होती है। अब कम से कम वो थोड़ा मॉर्निंग वॉक पर जाने लगी थीं। काव्या नंदिनी और समर के बीच की समझदारी को देखकर जल जाती है और सोचती है कि क्यों उसके और वनराज के बीच ऐसी समझ नहीं है।

अनुपमा के ट्यूमर के बारे में सुनकर वनराज शॉक्ड

अद्वैत अनुपमा की रिपोर्ट देखने के बाद बांसूरी बजाने लगता है और वनराज को बुलाने को कहता है। अनुपमा कहती है कि डॉक्टर रिपोर्ट में बढ़ा चढ़ाकर बताएगा। नंदिनी उसे समझाती है कि रूटीन चेकअप जरूरी होता है। अद्वैत वनराज को बताता है कि रिपोर्ट ठीक नहीं है। अनुपमा को ओवरीज में ट्यूमर है। वनराज शॉक्ड हो जाता है और पूछता है कि अनुपम ठीक तो हो जाएगी। अद्वैत कहता है कि अभी कुछ कह नहीं सकते हम बस कोशिश कर सकते हैं।

वनराज को हुआ अपनी गलती का एहसास

वनराज देखता है कि समर उनकी बातें सुन रहा है। समर ये बात बताने के लिए अनुपमा के कमरे तक जाता है लेकिन वनराज उसे रोक लेता है। वनराज अनुपमा की पूरी जिंदगी काम के बारे में सोचता है और कहता है कि उसने फिर से गलती कर दी। समर कहता है कि उन्होंने हमेशा गलतियां की हैं और मम्मी को इसके कारण झेलना पड़ रहा है। वो लोग हमेशा अपने में बिजी रहे और मम्मी हमारा ख्याल रखने में लगी रहीं। वनराज टूट जाता है और रोने लगता है। समर उसे संभालता है और काव्या दूर से ये सब देख रही होती है।

(Precap - वनराज समर से कहता है कि अगर उन्हें अनुपमा को खुश रखना है तो उसे उसकी बीमारी के बारे में छुपाना होगा। अब उसे हर दिन खुश रखना होगा। अनुपमा घर पहुंचती है जहां बा उसकी आरती उतारती हैं और इमोशनल हो जाती हैं। अनुपमा भगवान की आरती कहती है और उसे महसूस होता है कि सभी उससे कुछ छुपा रहे हैं।)