मरने से पहले दारा सिंह ने बताई थी अंतिम इच्छा, देखना चाहते थे 'रामायण'

By: Sunita Adhikari
| Published: 18 Apr 2020, 05:18 PM IST
मरने से पहले दारा सिंह ने बताई थी अंतिम इच्छा, देखना चाहते थे 'रामायण'

  • क्या आपको पता है कि मरने से पहले दारा सिंह (Dara Singh) ने रामायण देखने की अपनी अंतिम इच्छा बताई थी।

नई दिल्ली: लॉकडाउन के चलते लोगों की डिमांड पर 80 के दशक की 'रामायण' (Ramayan) का प्रसारण एक बार फिर किया गया। रामानंद सागर की रामायण ने टीआरपी के मामले में कई रिकॉर्ड तोड़ दिए हैं। आज भी इसे उतना ही प्यार मिल रहा है, जितना 34 साल पहले मिला था। इसके साथ ही रामायण के एक्टर्स को लोग सच में भगवान ही मानने लगे थे। इसमें राम-सीता जी और हनुमान का किरदार निभाने वालों को दर्शकों ने खूब प्यार दिया। हालांकि हनुमान जी का किरदार निभाने वाले दारा सिंह (Dara Singh) अब इस दुनिया में नहीं हैं। लेकिन रामायण के दोबारा प्रसारण के बाद सभी उन्हें याद कर रहे हैं। लेकिन क्या आपको पता है कि मरने से पहले दारा सिंह ने रामायण देखने की अपनी अंतिम इच्छा बताई थी।

जी हां, इस बात का खुलासा उनके बेटे विन्दु दारा सिंह (Vindu Dara Singh) ने किया था। विन्दु ने बताया था कि उनके पिता दारा सिंह ने मरने से पहले एक बार फिर से रामायण देखने की इच्छा जाहिर की थी। जिसके बाद परिवार ने उनकी इस इच्छा को पूरा किया। विन्दू ने यह भी बताया कि उनके पिता जब रामायण देखने बैठते थे तो एक साथ कई एपिसोड्स देख जाते थे। आपको बता दें कि दारा सिंह को रामायण में हनुमान का किरदार करने पर जितना प्यार मिला शायद ही किसी और एक्टर को मिला हो।

दारा सिंह का हनुमान जी के किरदार से एक अलग ही जुड़ाव था क्योंकि वह उन्होंने अपनी जिंदगी में तीन बार हनुमान का किरदार पर्दे पर निभाया है। सबसे पहले वह साल 1976 में आई फिल्म जय बजरंग बली में हनुमान के किरदार में नजर आए थे। उसके बाद रामायण में और तीसरी बार उन्होंने बीआर चोपड़ा के टीवी शो महाभारत में हनुमान का किरदार निभाया था। दारा सिंह कई फिल्मों में काम किया है लेकिन लोग उन्हें हनुमान के रूप में ही याद करते हैं।