कांग्रेस नेता के इस वजह से हुए 10 वाहन जब्त, नीलामी से इतने लाख रुपए का राजस्व वसूला

उदयपुर. परिवहन विभाग ने सरकार से विशेष अनुमति लेकर बांसवाड़ा के कांग्रेसी नेता मांगीलाल लबाना की गाड़ी जब्त की.

By: jyoti Jain

Published: 30 Nov 2017, 02:10 PM IST

 

उदयपुर . राजस्थान में टैक्स का डिफाल्टर होने के बाद बांसवाड़ा के कांग्रेसी नेता मांगीलाल लबाना ने अपनी गाडिय़ों को चोरी छिपे बॉर्डर पार मध्यप्रदेश व गुजरात भेज दिया। परिवहन विभाग ने सरकार से विशेष अनुमति लेकर नेता की राजस्थान व मध्यप्रदेश से 10 गाड़ी जब्त कर उन्हें नीलाम करते हुए 29.08 लाख रुपए का राजस्व वसूला


बांसवाड़ा में नायक ट्रैवल्स के संचालक लबाना की गुजरात, एमपी व राजस्थान में बसें चलती हैं। राजनीतिक प्रभाव के चलते लबाना इन वाहनों को मासिक टैक्स जमा नहीं करवा रहा था। डिफाल्टर होने पर जब नोटिस थमाए गए तो वह वाहनों को बॉर्डर पार ले गया। मध्यप्रदेश व गुजरात को टैक्स जमा करवाकर वाहनों को वहां से संचालन कर रहा था। परिवहन विभाग की जानकारी में आने पर अधिकारियों ने लबाना के बांसवाड़ा में 4, डंूगरपुर में 2 वाहन पकड़े। राज्य में इन छह वाहनों की नीलामी से विभाग ने 17.68 लाख का राजस्व वसूला।

 

सरकार से ली विशेष अनुमति
राजस्थान से बाहर एमपी व गुजरात में लबाना के वाहन दौडऩे की जानकारी पर परिवहन विभाग ने राज्य सरकार से इन्हें जब्ती की विशेष अनुमति ली। उसके बाद रतलाम (एमपी) के परिवहन विभाग कार्यालय से लगातार सम्पर्क साधा। इस बीच लबाना के चार वाहनों को रतलाम में फाइनेंस कंपनी ने जब्त कर लिया। राज्य सरकार से इस बाबत विशेष अनुमति लेकर जब्ती की कार्रवाई करने चाही तो फाइनेंस कंपनी ने स्वयं 11.40 लाख रुपए विभाग में जमा करवा दिए। इस तरह विभाग के पास अब तक कुछ 29.08 लाख का राजस्व प्राप्त हुआ।

 

READ MORE: video: लापता फौजी बेटे की तलाश के लिए इस पिता ने की सीबीआई जांच की मांग, पत्नी है गर्भवती, मां हुई बेहाल


डिफाल्टर होने पर लबाना के नियमानुसार वसूली की कार्रवाई के लिए स्थानीय अधिकारियों को सख्त निर्देश दिए थे। उसी के तहत कार्रवाई की गई। राज्य के बाहर भी सरकार से विशेष अनुमति के बाद कार्रवाई की गई।
मन्नालाल रावत, क्षेत्रीय परिवहन अधिकारी

jyoti Jain
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned