वंदे मातरम् की 143 वीं वर्षगांठ पर जयघोष से गूंज उठा उदयपुर शहर, देखें वीडियो

उदयपुर. ‘वंदेमातरम, सुजलाम्, सुफलाम्, मलयज शीतलाम्।’ अर्थात-हे मां तुझे प्रणाम।

By: jyoti Jain

Published: 08 Nov 2017, 01:26 PM IST

उदयपुर . ‘वंदेमातरम, सुजलाम्, सुफलाम्, मलयज शीतलाम्।’ अर्थात-हे मां तुझे प्रणाम। सुजल से भरी हुई, फलों से भरी हुई, मलय तट से आती हवाएं तुझे ठंडा करती है। ये वर्णन तो भारत भूमि के लिए किया गया है, लेकिन लगता है बात हरियाली से आच्छादित, झीलों की नगरी की हो रही है। कुछ ऐसी ही भावनाएं झंकृत होती नजर आई, मंगलवार की मंगलमय शाम को। मौका था राष्ट्र गीत वंदेमातरम की 143 वीं वर्षगांठ के आयोजन का। भारत माता और वंदेमातरम् घोष के साथ बड़ी तादाद में नागरिकों, विद्यार्थियों ने वंदेमातरम् गाया।

 

सूरजपोल चौराहे पर मिलिट्री बैंड ने देशभक्ति धुने बिखेरी तो माहौल देशभक्ति के रंग में रंग गया। बापू बाजार में सामूहिक वन्देमातरम् गान में भारत माता का रूपधर 9 कन्याओं ने ध्वजारोहण किया। आधे घंटे तक चले आयोजन में माहौल राष्ट्रभक्ति से ओतप्रोत हो गया। आलोक संस्थान के विद्यार्थियों ने समवेत स्वर में वंदेमातरम् गाया। आलोक इन्टरेक्ट क्लब ने सूरजपोल चौराहे से अस्थल मंदिर तक और गुलाब बाग की तरफ बैनर लेकर शहरवासियों से अनुरोध किया। आयोजन से पूर्व भारत माता का विशेष चित्र बापू बाजार में प्रदर्शित किया गया।

 

मां भारती की सांकेतिक आरती हुई। सुभाष चौराहा (मल्लातलाई), हाथीपोल, सेक्टर-4, फतहपुरा, आयड़ (विवेकानन्द प्रतिमा स्थल), सेवाश्रम पर भी वन्देमातरम् गायन हुआ। इधर, सेक्टर -4 स्थित विद्या निकेतन बालिका माध्यमिक विद्यालय में भी आयोजन हुआ। प्रधानाध्यापिका मीना बागरेचा, आचार्य नरेश नागदा ने विचार रखे। अन्तर्मन वेलफेयर सोसायटी की ओर से राजकीय बालिका उच्च माध्यमिक विद्यालय सुन्दरवास में प्रतियोगिताएं हुई। दिव्या मन्होत्रा, कृष्णा कीर, निशा सालवी, सोनाली शर्मा श्रेष्ठ रही।

 

143 anniversary of vandemataram

 

संयोजक डॉ. प्रदीप कुमावत ने राष्ट्र के प्रति समर्पण, स्वच्छता, पर्यावरण संरक्षण, जल संरक्षण, नारी सम्मान, बेटी बचाने का संकल्प दिलाया। जनसंघ के वरिष्ठ सदस्य श्यामलाल कुमावत भी मौजूद थे। इस मौके पर आलोक संस्थान, भारत विकास परिषद्, रोटरी क्लब, बजरंग सेना, संस्कार भारती, संस्कृत भारती, महाराणा प्रताप अधिकृत गाईड यूनियन, पतंजलि योग समिति की भी भागीदारी रही।

 

स्वदेशी का समर्थन
सेवाश्रम चौराहे पर भारत विकास परिषद् भामाशाह व विवेकानन्द की ओर से गायन हुआ। मुख्य अतिथि उपमहापौर लोकेश द्विवेदी थे। डॉ. एमजी वाष्र्णेय ने चीन निर्मित वस्तुओं के बहिष्कार पर जोर दिया। डूंगरपुर कॉलेज छात्रा चार्वी जोशी के गाए गीत ‘ऐ मेरे वतन के लोगों..’ की भावपूर्ण प्रस्तुति हुई। रामजी वाष्र्णेय, यशवन्त सोमानी, वाईके बोलिया, एचजी गुप्ता, पूर्णिमा वाष्र्णेय, केएन गुप्ता, केके शर्मा, महेंद्र व्यास, अनिल जैन, ठाकुर दास वैष्णव, मदन स्वर्णकार, गोपाल पुरोहित की भागीदारी रही।

jyoti Jain
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned