उदयपुर नगर निगम में दो डीटीपी ! एक पहले से प्रतिनियुक्ति पर, अब सहायक नगर नियोजक को बनाया डीटीपी

उदयपुर नगर निगम में दो डीटीपी ! एक पहले से प्रतिनियुक्ति पर, अब सहायक नगर नियोजक को बनाया डीटीपी

Mukesh Hingar | Publish: Dec, 19 2017 05:48:00 PM (IST) Udaipur, Rajasthan, India

प्रतिनियुक्ति पर पहले से डीटीपी कार्यरत थे, अब यहीं कार्यरत सहायक नगर नियोजक को डीटीपी बना दिया गया है और उन्होंने कार्यभार भी संभाल लिया है।

उदयपुर . नगर निगम में उप नगर नियोजक (डीटीपी) के पद पर इन दिनों अजीबो-गरीब स्थिति हो गई है। प्रतिनियुक्ति पर पहले से डीटीपी कार्यरत थे, अब यहीं कार्यरत सहायक नगर नियोजक को डीटीपी बना दिया गया है और उन्होंने कार्यभार भी संभाल लिया है। दोनों में से डीटीपी कौन रहेगा, इसको लेकर अब सरकार से मार्गदर्शन मांगा जा रहा है।

वर्तमान में डीटीपी पद पर प्रतिनियुक्ति पर प्रसुन चतुर्वेदी कार्यरत हैं। पिछले सप्ताह स्वायत्त शासन विभाग (डीएलबी) ने एक आदेश जारी कर सहायक नगर नियोजक सिराजुद्दीन को डीटीपी पद पर लगा दिया। आदेश के बाद सिराजुद्दीन ने नगर निगम आयुक्त के समक्ष राज्य सरकार के आदेश के साथ ज्वानिंग की अर्जी देते हुए कार्यभार संभाल लिया। सरकार ने प्रतिनियुक्ति पर चल रहे डीटीपी चतुर्वेदी को लेकर अभी कोई निर्देश नहीं दिए है। एेसे में भवन अनुमति शाखा तथा निगम में दोनों में से डीटीपी कौन है, इसको लेकर संशय की स्थिति है।

---

7 सहायक नगर नियोजक पदोन्नत
डीएलबी डायरेक्टर पवन अरोड़ा ने गत दिनों एक आदेश के जरिये सात सहायक नगर नियोजकों को उप नगर नियोजक पद पर पदोन्नत किया। इसमें सिराजुद्दीन को उदयपुर निगम मे, सुरेश शर्मा व वीरेन्द्रपाल शर्मा को जयपुर निगम में, मामराज चौधरी को नागौर नगर परिषद में, चन्द्रशेखर प्रसाद को माउंट आबू नगर परिषद में तथा राजपाल चौधरी को डीएलबी में उप नगर नियोजक पद पर लगाया गया।

--

हां, इस प्रकार के आदेश मिले हैं। हम इस प्रकरण को दो-तीन दिन में हल कर लेंगे।
- सिद्धार्थ सिहाग, आयुक्त (नगर निगम)

 

READ MORE: नहीं पहुंची गरीब के घर खुशियां..राजस्थान के 83 प्रतिशत लोगों ने नहीं छोड़ी गैस सब्सिडी

 

खादी उत्पाद में दिलचस्पी दिखा रहे शहरवासी

उदयपुर. गत दिनों से टाउनहॉल में चल रही राज्य स्तरीय खादी एवं ग्रामोद्योग प्रदर्शनी में आमजन खादी में हुए इनोवेशन को पसन्द कर रहे हैं। प्रदर्शनी के अब पांच दिन शेष हैं। इधर, रोजाना की बढ़ रही सेल से खादी इकाइयों के मनोबल में वृद्धि हुई है। खादी उप निदेशक प्रकाशचन्द्र गौड़ ने बताया कि खादी इकाइयों की ओर से तैयार रजाई, दरियां, ऊनी, सिल्क व सूती वस्त्रों की नई डिजाइनों एवं रेंज को खासा पसन्द किया जा रहा है। मेले में कई उत्पादों पर देय छूट का शहरवासी खरीदारी कर फायदा उठा रहे हैं। उन्होंने बताया कि चर्म उद्योग से जुड़ी इकाइयों की ओर से निर्मित लेडीज बेग्स और पर्स की नई आकर्षक डिजाइनों के अलावा खादी के कुर्ते-शर्ट, कंबलें, शालें, मसाले, तिल के व्यंजन और कश्मीरी ड्रायफ्रूट्स हर किसी की पसंद बने हुए हैं।

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned