ग्रामीणों के राशन पर आधार का संकट

आधार सीडिंग के लिए ग्रामीण बच्चों के आधार बनाने की कतार में, 60 हजार की आबादी पर आधार के लिए सिर्फ एक मशीन
बन रहे हैं रोजाना 10 से 12 कार्ड, राशन के साथ आधार कार्ड लाने पर होगी सीडिंग, फिर मिलेगा सदस्यों के हिस्से का राशन

By: surendra rao

Published: 26 Dec 2020, 07:32 PM IST

कोटड़ा. (उदयपुर) आदिवासी बहुल कोटडा़ क्षेत्र के लोग इन दिनों अपने परिवार के शेष सदस्यों के आधार बनाने के लिए कतार में खड़े हैं। जब तक बच्चों व आश्रितों का आधार कार्ड नहीं बनेगा, उन्हें उनका राशन नहीं मिलेगा। आधार बनने पर सीडिंग के साथ राशन मिलेगा।
कोटड़ा उपखंड क्षेत्र की कुल आबादी 2.50 लाख के लगभग है जो कई किलोमीटर तक पहाडिय़ों में बिखरी हुई रहती है। ऐसे में पूरे उपखण्ड में 66 ग्राम पंचायतों के आधार पर कुल 4 आधार मशीन दे रखी है। यहां दर्जनों गांवों के लोगों की दिनभर भीड़ लगी रहती है। इन आधार मशीनों से रोजाना मुश्किल से 10 या 12 आधार कार्ड ही बन पाते है। मामेर, देवला, कोटड़ा और मांडवा क्षेत्र में लगभग 60 हजार से अधिक की आबादी है।
वन नेशन वन राशन कार्ड में आधार कार्ड की अनिवार्यता के चलते ग्रामीण इलाकों में रहने वाले आदिवासी लोगों के समक्ष राशन का संकट खड़ा होने वाला है। वजह यह है कि जंगलों एवं पहाड़ी इलाकों में रहने वाले अधिकतर लोग मजदूरी या पलायन के कारण अन्य शहरों में चले जाते है जिससे माता-पिता एवं बचों के आधार कार्ड ही नहीं है। कई परिवारों में सिर्फ माता-पिता के ही आधार कार्ड बने हुए है, जबकि बच्चों के नहीं बने है। हजारों की आबादी वाले गांवों पर सिर्फ एक आधार मशीन होने से ग्रामीण लोगों के समय पर आधार कार्ड नही बन पा रहे है। इससे उन्हें हर महीने मिलने वाले राशन की कटौती से हाथ धोना पड़ रहा है।
.......
राशन चाहिए तो आधार लाओ

आधार के लिए ग्रामीण 15 दिनों से लगा रहे चक्कार
कोदरमाल निवासी निर्मल बुम्बरीया, रामा गरासिया और रोशनलाल ने बताया कि दिनभर भूखे प्यासे रहकर घरेलू एवं खेती बाड़ी छोड़कर रोजाना 100 से 150 रुपए खर्च कर अपने बच्चों के साथ आधार कार्ड बनवाने को लेकर जीपों में सवार होकर 50 किमी का सफर तय कर कोटड़ा मुख्यालय आ रहे हैं। वहीं राशन डीलरों का कहना है कि राशन चाहिए तो आधार लाओ और सीडिंग करवाओ।
......

अतिरिक्त मशीनें लगाने की मांग

एक तरफ कोरोना महामारी के चलते कामकाज नहीं मिलने से ग्रामीणों को बेरोजगारी का सामना करना पड़ रहा है, वहीं दूसरी ओर कई दिनों तक चक्कर लगाने के बावजूद समय पर आधार कार्ड नहीं बनने से लोगों प्रशासन के प्रति नाराजगी है। आधार कार्ड नहीं बनने से गुस्साए परिजन अलग-अलग जगहों से एकत्रित होकर बच्चों के साथ उपखंड कार्यालय कोटड़ा पहुंचे। जहां उन्होंने तहसीलदार धनराज मीणा को कलक्टर के नाम ज्ञापन देकर अतिरिक्त आधार मशीन लगवाने की मांग की।
कोटड़ा उपखंड क्षेत्र में आधार कार्ड के लिए चार मशीनें दे रखी है। आबादी ज्यादा होने एवं नेटवर्क की समस्या होने से रोजाना कम आधार बनने से अलग-अलग जगहों से शिकायतें आ रही है। उच्च अधिकारियों को समस्या से अवगत करवाया है।
-धनराज मीणा, तहसीलदार, कोटड़ा

Show More
surendra rao Desk
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned